2014-15 के लिए 9% ब्याज दे सकता है EPFO

सेवानिवृत्ति कोष का प्रबंधन करने वाला ईपीएफओ अपने पांच करोड़ से अधिक अंशधारकों को चालू वित्त वर्ष के लिए पीएफ जमाओं पर 9 प्रतिशत की दर से ब्याज दे सकता है जो 2013-14 में दिए गए 8.75 प्रतिशत ब्याज से थोड़ा ज्यादा है।

नई दिल्ली : सेवानिवृत्ति कोष का प्रबंधन करने वाला ईपीएफओ अपने पांच करोड़ से अधिक अंशधारकों को चालू वित्त वर्ष के लिए पीएफ जमाओं पर 9 प्रतिशत की दर से ब्याज दे सकता है जो 2013-14 में दिए गए 8.75 प्रतिशत ब्याज से थोड़ा ज्यादा है।
एक सूत्र ने कहा, ‘ शुरुआती अनुमानों से संकेत मिलता है कि कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) 2014-15 के लिए पीएफ जमाओं पर आसानी से 9 प्रतिशत की दर से ब्याज दे सकता है।’ उसने बताया कि बाजार में सुधार खासकर केंद्र में नयी सरकार बनने के बाद ईपीएफओ द्वारा विभिन्न निवेशों पर अधिक प्रतिफल मिलने की उम्मीद बढ़ गई है। ईपीएफओ 5 लाख करोड़ रुपये से अधिक के कोष का प्रबंधन करता है।
संगठन को 2013.14 के दौरान 71,195 करोड़ रुपये से अधिक की जमाएं प्राप्त हुई हैं जो 2012.13 के 61,143 करोड़ रुपये के संग्रह से 16 प्रतिशत अधिक है।
सूत्र ने कहा कि ईपीएफओ ने विशेष जमा योजना (एसडीएस) में किए गए करीब 55,000 करोड़ रुपये को निकालने और उसे अन्यत्र लगाने की भी योजना बनाई है। सरकार एसडीएस पर 8 प्रतिशत की तय दर से ईपीएफओ को भुगतान करती है। श्रम मंत्रालय द्वारा पिछले साल अधिसूचित एक निवेश ढांचे के तहत ईपीएफओ को नए नियमों के अंतर्गत अपने निवेश पर अधिक प्रतिफल मिलने की भी उम्मीद है।
नए प्रारूप के तहत, ईपीएफओ अपने कोष का 55 प्रतिशत तक बैंकों व वित्तीय संस्थानों एवं अन्य निकायों द्वारा जारी ऋण प्रतिभूतियों में निवेश कर सकता है। (एजेंसी)