close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार: बेटी मान सांप को पाल रही है महिला, इस अनोखे रिश्ते को देखने उमड़ रही है भीड़

मीणा देवी का मानना है कि यह सांप उसी के कोख से जन्म लिया है. साथ ही कहा कि मेरे कोख से तीन सांप ने जन्म लिया था. दो बेटे और एक बेटी, जिसे मैं अपने बच्चे की तरह पाल रही थी. 

बिहार: बेटी मान सांप को पाल रही है महिला, इस अनोखे रिश्ते को देखने उमड़ रही है भीड़
सांप को बेटी मान पाल रही है मुंगेर की महिला.

प्रशांत/मुंगेर : दुनिया में अजीबोगरीब नजारा और लोग देखने को मिलते रहते हैं. कुत्ते, बिल्ली या अन्य पालतू जानवर को अपना बेटा मान उसका लालन पालन करने की कहानी तो आपने खूब सुनी होगी, लेकिन बिहार के मुंगेर में एक महिला ने जहरीले सांप के बच्चे को ही अपना बेटी मानकर उसका परवरिश कर रही है. सांप भी एक बेटी की तरह उस महिला की हर बात को मानता है. महिला और सांप के बीच मां-बेटी के रिश्ते को देख लोग अपनी दांतो तले उंगली दबा लेते हैं.

मुंगेर मुख्यालय से महज चार किलोमीटर दूर कासिम बाजार थाना के हेरु दियारा के डकरा गांव में पेशे से मजदूर कृष्णा यादव की पत्नी मीणा देवी एक जहरीले सांप को अपनी बेटी मानकर उसका बहुत अच्छे से ख्याल रखती है. उस सांप को लेकर के वह घर का हर काम करती है और सांप भी एक आज्ञाकारी बच्चे के सामान मीणा देवी की हर बात मानता है.

मीणा देवी का मानना है कि यह सांप उसी के कोख से जन्म लिया है. साथ ही कहा कि मेरे कोख से तीन सांप ने जन्म लिया था. दो बेटे और एक बेटी, जिसे मैं अपने बच्चे की तरह पाल रही थी. तीनों बच्चों के नाम उन्होंने आंधी, तूफान और मेल रखा था. इनमें से आंधी और तूफान की मौत हो गई, लेकिन मेल यानी मीनू अब तक जिंदा है. आंधी और तूफान को घर में बने देवी स्थान में दफना दिया, जिसका प्रतिदिन पूजा करती है.

मीणा देवी की बातों को सुनकर और सांप को देखकर गांव वाले भी अचंभित हैं. गांव में कौतूहल का विषय है. घर पर सांप देखने वाले का दिन भर तांता लगा रहता है. महिला ने बताया कि उसके पहले से दो बच्चे हैं. एक लड़का और एक लड़की. मीणा देवी की माली स्थिति ठीक नहीं है.

लाइव टीवी देखें-:

हालांकि विज्ञान इन बातों को नहीं मानता है, लेकिन महिला का दावा है कि उसने सांप रूपी तीन बच्चों को जन्म दिया है. इस पर शायद ही कोई यकीन कर सके. गांव वाले भी इस घटना को सत्य मान कर सांप और महिला के प्रेम को देखने के लिए उसके घर जाया करते हैं. ग्रामीणों ने कहा कि जब उन्होंने यह सुना कि महिला ने सांप के बच्चे को जन्म दिया तो उन्होंने इस बात पर यकीन नहीं किया, लेकिन जब जहरीले सांप के छोटे से बच्चे को महिला की गोद में एक बच्चे की तरह खेलता देख तो सच मानने लगे. ग्रामीणों ने कहा कि एक छोटे से सांप महिला की हर बात मानता है. जब वह पास बुलाती है तो आ जाता है. दूध पीने बोलती है तो दूध पीने लगता है. सांप महिला के साथ बच्चे की तरह बरताव करता है.

मीणा देवी बताती है उसके दो बच्चे होने के बाद कई वर्षों के बाद गर्भवती हुई. स्थनीय डॉक्टरों से इलाज कराया, लेकिन अल्ट्रासाउंड करवाया तो डॉक्टरों ने कहा कि पेट में थैली है. बच्चा नहीं दिख रहा है. उन्होंने कहा गर्भावस्था के वक्त कुछ भी खाना खाती तो पेट में जलन होती थी. दूध पीती थी तो पेट में आराम होता था. उन्होंने कहा नौ महीना पूरा होने के बाद रात में पेट में दर्द हुआ जब बाथरूम गई तो टॉयलेट के वक्त लगा मैंने किसी बच्चे को जन्म दिया. अंधेरा होने के कारण कुछ पता नहीं चला. उन्होंने कहा कि अगस्त नागपंचमी के दिन जब शाम में किचन में खाना बना रही थी तो तीन छोटे-छोटे सांप मेरे पास आए तो मैं डर गई. लेकिन छोटे-छोटे जीव को देख कर मैंने नहीं मारा.