close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

OMG: अजब हैं यहां के पेट्रोल पंप मालिक, ज्यादा पैसों से हो रहे हैं परेशान

वैसे तो किसी भी व्यक्ति के पास अगर पैसा इकठ्ठा होता है तो उसकी ख़ुशी का ठिकाना नहीं रहता लेकिन कुछ पेट्रोल पंप मालिक पैसों के ज्यादा इकठ्ठा हो जाने को लेकर परेशान नजर आ रहे हैं. 

OMG: अजब हैं यहां के पेट्रोल पंप मालिक, ज्यादा पैसों से हो रहे हैं परेशान
.(प्रतीकात्मक तस्वीर)

गोधरा: वैसे तो किसी भी व्यक्ति के पास अगर पैसा इकठ्ठा होता है तो उसकी ख़ुशी का ठिकाना नहीं रहता लेकिन कुछ पेट्रोल पंप मालिक पैसों के ज्यादा इकठ्ठा हो जाने को लेकर परेशान नजर आ रहे हैं.  लोगों की पैसा इकठ्ठा होने पर सारी मुसीबतें दूर हो जाती हैं. सारी मुसीबतें दूर हो जाती है लेकिन गोधरा के पेट्रोल पम्प मालिक ज्यादा पैसे सिक्को के रूप में इकठ्ठा हो जाने से परेशान है. गोधरा शहर में लगभग 15 पेट्रोल पंप है और यहां के पेट्रोल पम्प मालिक लगातार कोइंस (सिक्के) इकठ्ठा हो जाने से काफी मुश्किल में है.

गोधरा में स्थित एक मालिक जिस तरह से यह बात बता रहे है की भारत सरकार द्वारा चलन में लाये गए नए सिक्के जो की 5 रूपये और 10 रूपये की कीमत के है. उन्हें लेने से किसी भी दुकानदार द्वारा या कही और नहीं लिए जाने के बाद लोग सीधे ये सिक्के लेकर पेट्रोल पम्प आते है और पेट्रोल भरवाते है. यह करंसी भारत सरकार मान्य होने की वजह से कोई भी लेने से इसे मना नहीं कर सकता इस वजह से इन सिक्को को लेना उनकी मज़बूरी हो जाती है.

और इन सिक्कों के पैकेट उन्हें लेने पड़ते है. लेकिन जब यह सिक्के ग्राहकों को देने की कोशिश की जाती है तो वो लेने से साफ इंकार कर देते है और पेट्रोल पम्प के कर्मचारियों द्वारा जब ग्राहकों को छुट्टे वापस करने  सिक्के दिए जाते है. तो उनकी ग्राहकों से तकरार होती है.

इस बात से परेशान होकर जब पेट्रोल पम्प मालिक इन सिक्को को बैंक में जमा करवाने का निर्णय लिया " एम एच & ए"पेट्रोल पम्प के मालिक इल्यास पटेल अकेले के पास 7 लाख से ज्यादा के सिक्के इकठ्ठा हो गए है और उन्होंने इन सिक्कों को अपने घर और ऑफिस में पैकेट बनाकर रखे दूसरी तरफ इलियास भाई ने बैंक ऑफ बड़ौदा में जहां उनका खाता है.

वह के रीजनल ऑफिस में कई बार इस रकम को जमा करने के लिए लिखित अर्जी कर चुके है लेकिन बैंक वाले रखने की जगह नहीं होने की बात का बहाना कर रहे है. इस बारे में इलियास भाई सहित सभी पेट्रोल पम्प मालिक डीलरों ने उनकी एसोसिएशन के सेक्रेटरी को भी इस बात की शिकायत की है. गोधरा के पेट्रोल पम्प मालिकों के यहाँ इन सिक्को की भरमार हो गयी है और इन सिक्को के जमा होने की वजह से उनका फाइनेंशियल सर्कुलेशन बंद हो गया है और इन सिक्को की वजह से ये डीलर आर्थिक मुसीबतों में आ गए है.

लाखो रुपयों के जमा सिक्को से आर्थिक व्यव्हार करना कैसे यह मुसीबत इन पेट्रोल पम्प मालिकों और डीलरों को परेशान कर रही है. इन डीलरों की एसोसिएशन ने भी सिक्को की समस्या को लेकर सभी बेंको से बात की. लेकिन आज तक को निराकरण नहीं निकला है.

इस बारे में बैंक ऑफ़ बरोदा के रीजनल ब्रांच मैनेजर से बात की गयी तो उन्होंने बताया की गोधरा की सभी ब्रांच के साथ बात की गयी है और इस समस्या का उचित समाधान करने का आश्वासन दिया. रीजनल मैनेजर ने कहा की बैंक की शाखाओं से समय लेकर व्यवस्थित पेकिंग कर थोड़ी थोड़ी मात्रा में यह सिक्के जमा किये जायेंगे तो ब्रांच जरूर सहयोग करेंगी.

एक तरफ पेट्रोल डीजल डीलर बैंक द्वारा सहयोग नहीं करने कह रहे हैं. वही बैंक के रीजनल मैनेजर इस समस्या का बात कर रहे हैं. अब देखना यह होगा की इन पेट्रोल पम्प मालिकों की समस्या का समाधान कब निकलकर आता है.

STRINGER-JAYENDRA BHOI