चीन में कोरोना फिर मचाएगा तबाही! इस चेतावनी से अटकी ड्रैगन की सांसें
X

चीन में कोरोना फिर मचाएगा तबाही! इस चेतावनी से अटकी ड्रैगन की सांसें

कोरोना के नए वैरिएंट को बेहद संक्रामक माना जा रहा है ऐसे में चीन के लिए खतरे की घंटी बज गई है. चेतावनी दी गई है कि चीन में रोजाना संक्रमण के 6.30 लाख से ज्यादा मामले सामने आ सकते हैं.

चीन में कोरोना फिर मचाएगा तबाही! इस चेतावनी से अटकी ड्रैगन की सांसें

बीजिंग: कोरोना के नए वैरिएंट की दहशत के बीच चीन (China) के ज्यादातर हिस्सों को दुनिया के लिए बंद रखा गया है. इसकी वजह है एक नई स्टडी में दी गई चेतावनी, इसमें कहा गया है कि अगर पाबंदियों को हटा दिया जाता है तो चीन को महामारी के ‘भंयकर प्रकोप’ का सामना करना पड़ेगा. चीन में रोजाना संक्रमण के 6.30 लाख से ज्यादा मामले सामने आ सकते हैं.

चीन में बढ़ने लगा कोरोना

पेकिंग विश्वविद्यालय के गणितज्ञों की रिपोर्ट में कहा गया है कि अगर चीन अन्य देशों की तरह यात्रा प्रतिबंध हटा देता है और कोराना वायरस संक्रमण के प्रसार को कतई बर्दाश्त नहीं करने के रुख को छोड़ देता है तो देश में रोजाना 6,30,000 से ज्यादा मामले सामने आ सकते हैं. रिपोर्ट में कहा गया, ‘आकलन में खुलासा हुआ है कि भंयकर प्रकोप की संभावना है जिसका बोझ मेडिकल सिस्टम नहीं उठा सकता.’ चीन में शनिवार को कोविड-19 के 23 नये मामले सामने आए जिनमें से 20 मामले अन्य देशों से आए और बीजिंग सहित अन्य शहरों में संक्रमण के मामलों में वृद्धि देखी जा रही है.

चीन की तैयारी मुकम्मल नहीं

दुनिया के लिए महामारी शुरू होने से पहले चीन के वुहान शहर में वर्ष 2019 के अंत में कोविड-19 का पहला मामला आया था. चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग के मुताबिक चीन में अबतक कोविड-19 के 98,631 मामले आए हैं जबकि 4,636 मरीजों की मौत हुई है. इस समय 785 मरीज इलाज करा रहे हैं. चीन के डिजीज कंट्रोल और प्रिवेंशन सेंटर द्वारा चाइना सीडीसी साप्ताहिक में प्रकाशित खबर के मुताबिक पेकिंग विश्वविद्यालय के चार गणितज्ञों ने कहा है कि चीन बिना प्रभावी टीकाकरण और विशेष इलाज के सभी आने जाने वालों के लिए आइसोलेशन की व्यवस्था करने के लिए तैयार नहीं है.

यह भी पढ़ें; क्या वापस होगा इंटरनेशनल फ्लाइट्स शुरू करने का फैसला? कोरोना के नए वैरिएंट का खौफ

फिलहाल चीन में हैं ये नियम

मौजूदा समय में विदेश से चीन आने वालों को निर्धारित होटलों में 21 दिनों तक आइसोलेशन में रहना पड़ता है. अमेरिका, ब्रिटेन, इजराइल, स्पेन और फ्रांस के अगस्त से अबतक के आंकड़ों का विश्लेषण कर वैज्ञानिकों ने आकलन करने की कोशिश की कि चीन अगर इन देशों की तरह रणनीति अपनाए तो क्या प्रभाव पड़ेगा. अगस्त में इन सभी देशों में टीकाकरण की दर चीन से ज्यादा थी. वैज्ञानिकों का आकलन है कि अगर चीन भी अमेरिका की रणनीति को महामारी से निपटने में अपनाता है तो दैनिक मामलों की संख्या 6,37,155 हो सकती है, जबकि अगस्त में 1,50,098 मामले रोजाना आ रहे थे.

LIVE TV

Trending news