देशभर में निकला सुहाग का 'चांद', सुहागिनों ने दीदार कर खोला करवा चौथ का व्रत
X

देशभर में निकला सुहाग का 'चांद', सुहागिनों ने दीदार कर खोला करवा चौथ का व्रत

Karva Chauth Moon Rising Time Today: सुहागिन महिलाओं का करवा चौथ व्रत (Karwa Chauth Vrat) खोलने का इंतजार खत्म हुआ. महिलाओं ने चांद देखकर पति की आरती कर निर्जला व्रत खोला है. 

देशभर में निकला सुहाग का 'चांद', सुहागिनों ने दीदार कर खोला करवा चौथ का व्रत

नई दिल्ली: Karva Chauth Moon Rising Time Today:सुहागिन महिलाओं का करवा चौथ व्रत (Karwa Chauth Vrat) खोलने का इंतजार खत्म हो गया है. सुहागिन महिलाएं पति की लंबी उम्र की कामना के साथ चांद का दीदार कर अपना व्रत खोल दिया. 

निर्जला रखा जाता है व्रत

यह व्रत निर्जला किया जाता है. इसमें सूर्योदय के पहले सरगी खाने के बाद रात को चंद्रमा निकलने (Moonrise) तक पानी भी नहीं पिया जाता है. इसलिए करवा चौथ के दिन सबसे ज्‍यादा इंतजार चांद निकलने का रहता है. इस बार तो करवा चौथ का व्रत बहुत खास है क्‍योंकि यह रविवार को है और इसका चांद रोहिणी नक्षत्र में निकला.

विभिन्‍न शहरों में चंद्रोदय का समय 

वैसे तो करवा चौथ पर चंद्रोदय का समय (Karwa Chauth 2021 Moonrise Time) रात 08:11 बजे था, लेकिन अलग-अलग शहरों में यह समय अलग-अलग पर चांद निकला. 

दिल्ली: 08 बजकर 07 मिनट   
नोएडा 08 बजकर 07 मिनट
मुंबई 08 बजकर 46 मिनट  
जयपुर: 08 बजकर 17 मिनट 
पटना: 07 बजकर 42 मिनट 
कोलकाता: 07 बजकर 35 मिनट 
लखनऊ: 07 बजकर 56 मिनट 
प्रयागराज- 07 बजकर 56 मिनट 
कानपुर-  07 बजकर 59 मिनट 
गुवाहाटी: 07 बजकर 13 मिनट 
देहरादून: रात 8 बजे 
मनाली: 07 बजकर 58 मिनट
शिमला: 08 बजकर 01 मिनट
भोपाल: 08 बजकर 19 मिनट
जम्मू: 08 बजकर 06 मिनट
वडोदरा: 08 बजकर 38 मिनट
अहमदाबाद: 08 बजकर 39 मिनट

ये भी पढ़ें- Karva Chauth 2021: करवा चौथ पर हमेशा छलनी से ही क्‍यों देखा जाता है चांद?

पूजा का शुभ मुहूर्त और विधि 

करवा चौथ की पूजा का शुभ मुहूर्त (Karwa Chauth Puja Shubh Muhurat) आज (24 अक्‍टूबर 2021) को शाम 5.43 से 6.59 तक था. इस दौरान भगवान शिव, माता पार्वती, भगवान कार्तिकेय और भगवान गणेश की रोली, चंदन, अक्षत, पुष्प, नैवेद्य आदि से पूजा करें. साथ ही मिट्टी के करवे की पूजा करें. करवा चौथ व्रत (Karwa Chauth Vrat) की कथा पढ़ें या सुनें. रात में चंद्रमा उदय होते ही उसे अर्ध्‍य दें. फिर पति को तिलक लगाकर उनका चेहरा छलनी से देखें. इसके बाद पति के हाथ से पानी पीकर व्रत खोलें. 

(नोट: इस लेख में दी गई सूचनाएं सामान्य जानकारी और मान्यताओं पर आधारित हैं. Zee News इनकी पुष्टि नहीं करता है.)

LIVE TV

Trending news