Navratri Navami 2021 Puja Muhurat: महानवमी आज, जानें हवन-पूजा का शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

Mahanavmi पर हवन-पूजन (Havan Pujan) न करने से नवरात्रि (Navratri) के व्रत-पूजा का पूरा फल नहीं मिलता है. लिहाजा आज शुभ मुहूर्त (Shubh Muhurat) में हवन जरूर करें. 

Navratri Navami 2021 Puja Muhurat: महानवमी आज, जानें हवन-पूजा का शुभ मुहूर्त और पूजा विधि
(फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली: शारदीय नवरात्रि के आखिरी दिन Mahanavmi पर पूजा-हवन किया जाता है. महानवमी पर हवन करने से ही नवरात्रि में की गई मां दुर्गा की पूजा-आराधना का पूरा फल मिलता है. इस साल अश्विन महीने की नवरात्रि की नवमी (Mahanavmi 2021) आज 14 अक्‍टूबर 2021 को मनाई जाएगी. इस दिन हवन-पूजन (Havan Pujan) करने के अलावा कन्‍या पूजन भी किया जाता है. कन्‍याओं को भोजन कराके उन्‍हें भेंट दी जाती है. महानवमी के दिन मां सिद्धिदात्री की पूजा होती है. 

महानवमी हवन का शुभ मुहूर्त 

नवरात्रि की महानवमी (Mahanavami)तिथि 13 अक्टूबर को रात 08:07 मिनट से 14 अक्टूबर को शाम 06:52 मिनट तक रहेगी. इस दौरान पूजा के लिए शुभ मुहूर्त (Puja Shubh Muhurat) ब्रह्म मुहूर्त में सुबह 04:42 से 05:31 तक और अभिजित मुहूर्त सुबह 11:44 AM से 12:30 PM तक रहेगा. साथ ही इस बार 14 अक्टूबर को सुबह 9:36 बजे से पूरे दिन रवि योग भी रहेगा.

यह भी पढ़े: Navratri Mahanavami 2021: महानवमी पर इन 4 राशि वालों पर बरसेगी मां दुर्गा की विशेष कृपा, मिलेगा पैसा-तरक्‍की

ऐसे करें पूजा 

नवमी के दिन सुबह जल्‍दी नहाकर साफ कपड़े पहनें. मां सिद्धिदात्री के लिए प्रसाद तैयार करें. मां को भोग में नवरस युक्त भोजन और 9 प्रकार के फूल-फल चढ़ाने चाहिए. इसके बाद धूप-दीप जलाएं, मां की आरती करें. नवमी के दिन मां के बीज मंत्र का जाप जरूर करना चाहिए. इससे भक्‍त की सारी मनोकामनाएं पूरी होती हैं. इसके साथ ही पूरे विधि-विधान से हवन करना चाहिए. आखिर में 2 से 10 साल की कन्‍याओं का पूजन करना चाहिए. उन्‍हें हलवा-पूरी का भोजन कराना चाहिए और भेंट देकर विदा करना चाहिए. यदि 9 कन्‍याएं ना बुला पाएं तो 2 कन्‍याओं का पूजन भी कर सकते हैं. 

(नोट: इस लेख में दी गई सूचनाएं सामान्य जानकारी और मान्यताओं पर आधारित हैं. Zee News इनकी पुष्टि नहीं करता है.)

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.