FIFA Awards: नेत्रहीन बच्चे की मां को मिला ‘बेस्ट फैन अवॉर्ड’, जानें मार्मिक कहानी

FIFA’s Best Fan award: ब्राजील की सिल्विया ग्रीको (Silvia Grecco) की यह कहानी दुखभरी, लेकिन बेहद प्रेरक है. 

FIFA Awards: नेत्रहीन बच्चे की मां को मिला ‘बेस्ट फैन अवॉर्ड’, जानें मार्मिक कहानी
ब्राजील की सिल्विया ग्रीको और निकोलस अवॉर्ड सेरेमनी में अपनी ट्रॉफी के साथ. (फोटो: Reuters)

साओ पाउलो: किसी भी मां-बाप के लिए इससे ज्यादा कष्ट की बात शायद ही कुछ हो कि उनका बच्चा इस दुनिया को देख ही नहीं सकता. और अगर वह नेत्रहीन बच्चा किसी खेल का दीवाना हो जाए, उसे हर पल जीने लगे तो फिर मां-बाप क्या करें. यकीनन, वे हर वह कोशिश करते होंगे, जो उनके पहुंच में होगी. लेकिन ब्राजील की एक मां ने ऐसा कुछ किया कि वह फुटबॉल जगत की सबसे बड़ी प्रशंसक चुन ली गईं. ब्राजील की सिल्विया ग्रीको (Silvia Grecco) की यह कहानी दुखभरी, लेकिन बेहद प्रेरक है. 

ब्राजील की सिल्विया ग्रीको को सोमवार को मिलान में फीफा के सालाना पुरस्कार समारोह (FIFA Football Awards) में सम्मानित किया गया. सिल्विया ग्रीको एक बच्चे निकोलस की मां हैं. 11 साल का निकोलस (Nickollas) फुटबॉल का दीवाना है. वह ब्राजील के फुटबॉल क्लब पलमायर्स का प्रशंसक है. निकोलस अपनी मां के साथ मैच देखने के लिए बाकायदा स्टेडियम जाता है. मां सिल्विया स्टेडियम में अपने बच्चे को मैच के हर पल का आंखों देखा हाल सुनाती हैं. 

इतना ही नहीं, सिल्विया मैच के दौरान बाकी दर्शकों की तरह शोर मचाती हैं. नारे लगाती हैं और गाने भी गाती हैं. हालांकि, एक साल पहले तक उनके बारे में ज्यादा लोगों को पता नहीं था. अगर फीफा ने उन्हें साल का सर्वश्रेष्ठ फुटबॉल प्रशंसक (FIFA’s Best Fan award, ) चुना है तो इसमें उस टीवी रिपोर्टर का भी हाथ है, जिसने उन्हें अपने कैमरे में कैद किया. 

सिल्विया और निकोलस पिछले साल पलमायर्स क्लब का मैच देखने गए थे. मां अपने दिव्यांग बेटे को हर बॉल का रोमांच बता रही थी. टीवी रिपोर्टर को जैसे ही यह बात पता चली, उसने उसे रिकॉर्ड कर लिया. लाइव मैच के दौरान भी दोनों को बार-बार दिखाया गया. जब तक मां-बेटे स्टेडियम से बाहर आए, तब तक पूरे ब्राजील में उन्हें बार-बार दिखाया जा चुका था. उनका यह वीडियो वायरल हो चुका था. 

सिल्विया ग्रीको कहती हैं, ‘हमें नहीं पता था कि मैच के दौरान उन्हें टीवी पर दिखाया गया है. लेकिन जब हम स्टेडियम से बाहर निकले तो लोग हमारे बारे में बातें कर रहे थे. यह हमारे लिए नई बात थी. हम पहले भी मैच देखते थे. कम से कम एक महीने में एक मैच तो देख ही लेते थे.’  

सिल्विया कहती हैं, ‘मैं कोई ऑफिशियल कॉमेंटेटर नहीं हूं. मैं अपने बच्चे को मैदान के बारे में बताती हूं. पूरे माहौल का ब्योरा देती हूं. हर खिलाड़ी की खूबियों के बारे में बताती हूं. मैं बताती हूं कि किस खिलाड़ी ने बाल रंगे हुए हैं, किसने लॉन्ग स्लीव की जर्सी पहनी है या वे किस रंग के जूत पहने हुए हैं. इसमें कोई शक नहीं कि गोल का ब्योरा देना सबसे रोमांचक पल होता है.’ 

फीफा अवॉर्ड सेरेमनी इटली के मिलान में हुई. अर्जेंटीना के लियोनेल मेसी (Lionel Messi) को साल का बेस्ट फुटबॉलर चुना गया. उन्होंने छठी बार यह अवॉर्ड जीता है. इसके साथ ही उन्होंने अपने कट्टर प्रतिद्वंद्वी क्रिस्टियानो रोनाल्डो को पीछे छोड़ दिया है. रोनाल्डो ने पांच बार यह अवॉर्ड जीता है.