close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मैच फिक्सिंग को लेकर शोएब अख्तर का बड़ा खुलासा, जानिए, कब गुस्से में दीवार पर मारा मुक्का

पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने मैच फिक्सिंग की चर्चाओं के बीच एक बयान देकर नए विवाद को हवा दे दिया है. 

मैच फिक्सिंग को लेकर शोएब अख्तर का बड़ा खुलासा, जानिए, कब गुस्से में दीवार पर मारा मुक्का

नई दिल्ली: पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने मैच फिक्सिंग की चर्चाओं के बीच एक बयान देकर नए विवाद को हवा दे दिया है. अख्तर ने  एक टीवी शो पर कहा कि पाकिस्तान के लिए खेलते हुए उन्हें ऐसा लगता था कि वह 11 की टीम के साथ नहीं 21 की टीम के साथ खेल रहे हैं. वह जब खेला करते थे तब मैच फिक्सरों से घिरा रहा करते थे. अख्तर ने कहा, "मुझे हमेशा विश्वास था कि मैं पाकिस्तान को धोखा नहीं दे सकता, इसलिए मैच फिक्सिंग नहीं. मैं मैच फिक्सरों से घिरा हुआ था. मैं 21 खिलाड़ियों के साथ खेल रहा था जिसमें से 11 उनके और 10 हमारे खिलाड़ी होते थे.

अख्तर 2010 में फिक्सिंग प्रकरण की बात कर रहे थे 
कौन जाने कौन मैच फिक्सर है. बहुत मैच फिक्सिंग हुआ करती थी. आसिफ ने मुझे बताया था कि उन्होंने कौन से मैच फिक्स किए थे और कैसे किए थे." अख्तर असल में 2010 में फिक्सिंग प्रकरण की बात कर रहे थे जिसमें मोहम्मद आमिर, पाकिस्तान के तत्कालीन कप्तान सलमान बट और तेज गेंदबाज मोहम्मद आसिफ फंसे थे.

44 साल के अख्तर ने कहा कि जब उन्हें मैच फिक्सिंग के बारे में पता चला तो वह हैरान रह गए. उन्होंने कहा, "मैंने आमिर और आसिफ को समझाने की कोशिश की. यह प्रतिभा को बर्बाद करना है. जब मैंने इस बारे में सुना तो मैं काफी दुखी हुआ और मैंने दीवार में मुक्का मारा. पाकिस्तान के दो शीर्ष गेंदबाज, दो शानदार तेज गेंदबाज बर्बाद हो गए थे. कुछ पैसों के लिए उन्होंने अपने आप को बेच दिया था." अख्तर ने 2011 में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया था.

इनपुट आईएएनएस से भी