INDvsWI: रोहित पर दिखा तीसरे टी20 मैच का दबाव, बोले- विश्व कप दूर, अभी तो विंडीज...

India vs West Indies: भारत और वेस्टइंडीज ने 3 मैचों की टी20 सीरीज में एक-एक मैच जीत लिए हैं. अब बुधवार का मैच निर्णायक हो गया है. 

INDvsWI: रोहित पर दिखा तीसरे टी20 मैच का दबाव, बोले- विश्व कप दूर, अभी तो विंडीज...
रोहित शर्मा वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले दो टी20 मैच में क्रमश: 8 और 15 रन बना सके. (फोटो: IANS)

मुंबई: भारतीय टीम इन दिनों वेस्टइंडीज (West Indies) के खिलाफ टी20 सीरीज खेल रही है. जब यह सीरीज शुरू हुई तो कहा गया है कि यह भारतीय टीम (Team India) के लिए अगले साल होने वाले आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप की तैयारी के लिए अच्छा मौका है. फिलहाल दो मैचों के बाद टी20 सीरीज 1-1 से बराबर है और तीसरा व निर्णायक मैच बुधवार (11 दिसंबर) को होना है. शायद यही वजह है कि भारतीय उप कप्तान रोहित शर्मा (Rohit Sharma) अभी अगले टी20 वर्ल्ड कप के बारे में नहीं सोच रहे हैं. उनका ध्यान वेस्टइंडीज के खिलाफ होने वाले आखिरी टी20 मैच पर है, जो तीन मैचों की सीरीज के विजेता का फैसला करेगा. 

मेजबान भारत ने वेस्टइंडीज के खिलाफ (India vs West Indies) हैदराबाद में खेले गए पहले मैच में शानदार जीत दर्ज की थी. विंडीज ने दूसरे मैच में जीत दर्ज कर सीरीज 1-1 से बराबर कर तीसरे मैच को निर्णायक बना दिया है. तीसरा मैच मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम (Mumbai T20) में होने वाला है, जहां पिछली भिड़ंत में विंडीज की टीम ने भारत को हरा दिया था. 

यह भी पढ़ें: सचिन के पहले शतक का गवाह है 11 दिसंबर, आज ही टूटा था गावस्कर का 34 शतक का रिकॉर्ड

ओपनर रोहित शर्मा ने तीसरे टी20 मैच से एक दिन पहले मंगलवार को कहा, ‘देखिए, मैं लगातार यह नहीं कह सकता कि हम टी20 विश्व कप के लिए टीम बना रहे हैं. यह अभी दूर है. हमें इस समय सीरीज जीतने पर ध्यान देना है और यह हमें अच्छी स्थिति में रखेगी और आगे ले जाएगी.’

सीमित ओवरों में टीम के उप कप्तान रोहित ने कहा कि इस समय टीम को अपने बेसिक्स को बेहतर कर मैच जीतने की जरूरत है ताकि वह विश्व कप की तैयारी कर सके. उन्होंने कहा, ‘अगर हम लगातार मैच जीतते रहे, लगातार अच्छी चीजें करते रहे, तो टीम का संयोजन अपने आप बन जाएगा.’

यह भी पढ़ें: IND vs WI: मुंबई में होगा ट्रॉफी का फैसला, विंडीज का अजेय रिकॉर्ड और ‘विराट ब्रिगेड’ पर दबाव

वानखेड़े स्टेडियम का रिकॉर्ड वेस्टइंडीज के पक्ष में है. उसने यहां दो मैच खेले हैं और दोनों ही जीते हैं. जबकि, भारत को यहां खेले गए तीन मैचों में सिर्फ एक मैच में जीत मिली है. जाहिर है, भारत इस रिकॉर्ड को नजरअंदाज कर अपना स्वाभाविक खेल खेलेगा. दूसरी ओर, विंडीज की कोशिश होगी कि वानखेड़े स्टेडियम में उसका अजेय रिकॉर्ड कायम रहे.