close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

INDvsNZ : भारतीय कप्तान कोहली हिट तो कीवी कैप्टन विलियम्सन हुए फ्लॉप

ऑस्ट्रेलिया को 4-1 से हराने के बाद टीम इंडिया का आत्मविश्वास सातवें आसमान पर था. भारत ने पिछले 15 वन डे में केवल दो मैच हारे हैं, लेकिन केन विलियम्सन के नेतृत्व में न्यूजीलैंड की टीम ने  खेल के लगभग हर क्षेत्र में टीम इंडिया को मात दी.

INDvsNZ : भारतीय कप्तान कोहली हिट तो कीवी कैप्टन विलियम्सन हुए फ्लॉप
भारत बनाम न्यूजीलैंड : कुछ रहे हिट, तो कुछ हुए फ्लॉप (PIC : PTI)

नई दिल्ली : भारतीय क्रिकेट टीम की जीत का सिलसिला न्यूजीलैंड की अनुशासित टीम ने पहले वनडे में ही तोड़ दिया. टॉम लाथम (नाबाद 103) और रॉस टेलर (95) की दोहरी शतकीय साझेदारी के दम पर न्यूजीलैंड ने वानखेड़े स्टेडियम में खेले गए पहले वनडे मैच में रविवार को भारत को छह विकेट से हरा दिया. इस जीत के साथ न्यूजीलैंड ने भारत के खिलाफ तीन वनडे मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त हासिल कर ली है. टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय क्रिकेट टीम ने अपने कप्तान विराट कोहली (121) के शतक के दम पर न्यूजीलैंड के सामने 281 रनों का लक्ष्य रखा. 

सहवाग ने रॉस टेलर को कहा दर्जी, यूजर्स बोले- कपड़े सिलने की बजाय फाड़ दिए

लक्ष्य विशाल नहीं था, लेकिन इतना था कि इस पर लड़ा जा सके. लेकिन, मेहमान टीम ने इसे तीन विकेट के नुकसान पर ही 284 रन बनाकर हासिल कर लिया. टीम इंडिया को छह विकेट से पराजय का सामना करना पड़ा. ऑस्ट्रेलिया को 4-1 से हराने के बाद टीम इंडिया का आत्मविश्वास सातवें आसमान पर था. भारत ने पिछले 15 वन डे में केवल दो मैच हारे हैं, लेकिन केन विलियम्सन के नेतृत्व में न्यूजीलैंड की टीम ने  खेल के लगभग हर क्षेत्र में टीम इंडिया को मात दी. मैच के कुछ हिट्स और फ्लॉप्स पर नजर डालते हैं : 

पहले वनडे में मिली हार पर बोले कोहली - टेलर और लेथम ने हमें कोई मौका नहीं दिया

टॉम लाथम-रॉस टेलर की पार्टनरिशप रही हिट
बहुत लंबे समय बाद बल्लेबाजों की किसी जोड़ी ने इंडियन बॉलिंग लाइन अप की धज्जियां उड़ाई है. युवा टॉम लाथम और अनुभवी रोज टेलर ने रविवार को चौथे विकेट के लिए वानखेड़े स्टेडियम में शानदार 200 रनों की पार्टनशिप की. इस पार्टनरशिप ने विराट कोहली की टीम को आसानी से पराजित करने का रास्ता सुनिश्चित किया. लाथम को 102 गेंदों पर 103 रनों की पारी के लिए 'मैन ऑफ द मैच' चुना गया. वह अंत तक नाबाद रहे. वानखेड़े की पिच पर लाथम और टेलर ने भारत की पराजय की पटकथा लिखी. वानखेड़े की पिच पर भारत के खिलाफ यह सबसे बड़ी रन चेस विक्टरी रही. टेलर ने अपना सारा अनुभव लगा दिया और वे पूरी पारी के दौरान कूल रहे. दाए हाथ का यह बल्लेबाज जानता था कि इस स्कोर का हासिल किया जा सकता है. टेलर ने शानदार 95 रनों की पारी खेली. लाथम और टेलर ने इसके बाद बिखरी हुई टीम को अपनी बेहतरीन पारियों के दम पर संभाला और चौथे विकेट के लिए 200 रनों की साझेदारी कर टीम को जीत के मुहाने पर ला खड़ा किया. लाथम और टेलर की ओर से की गई साझेदारी भारत के खिलाफ वनडे मैच में की गई सबसे बड़ी साझेदारी है. इससे पहले, 2010 में दाम्बुला में स्कॉट स्टोरिस ने टेलर के साथ 188 रनों की साझेदारी की थी.

न्यूजीलैंड के खिलाफ भारत की हार के ये रहे 4 बड़े कारण

केन विलियम्सन हुए फ्लॉप
पूरे मैच में केन विलियम्सन का जादू देखने को नहीं मिला, जो अक्सर वह बल्लेबाजी में दिखाया करते हैं. लेकिन वानखड़े में कुलदीप यादव ने उन्हें दोहरे अंक तक भी नहीं पहुंचने दिया. इसके बाद बल्लेबाजी करने उतरे लाथम न्यूजीलैंड के लिए विजेता साबित हुए. न्यूजीलैंड की बल्लेबाजी काफी हद तक विलियम्सन पर निर्भर करती है. पहले वन डे में असफल रहने के बाद बाकी बल्लेबाजों को अपनी बल्लेबाजी टेस्ट करने का मौका मिल गया. टेलर और लैथम ने इस चुनौती को स्वीकार किया और न्यूजीलैंड को ऐतिहासिक जीत दिलवा दी. विलियम्सन की असफलता का इन बल्लेबाजों ने बेअसर कर दिया. 

पहली बार भारत में बेकार गया विराट का शतक, लेकिन बन गए अनोखे रिकॉर्ड

विराट कोहली हुए हिट
टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली और न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियम्सन के बीच कड़ा मुकाबला था. अपने बल्ले से विराट कोहली ने शानदार प्रदर्शन किया, लेकिन मैदान पर वह कप्तानी में कोई जौहर नहीं दिखा पाए. हार के बावजूद 28 वर्षीय विराट कोहली के लिए यह यादगार वन डे बन गया. कोहली अपना 200वां वन डे खेल रहे थे. उन्होंने 31वां शतक लगा कर इस ऐतिहिसक मूवमेंट को सेलिब्रेट किया. उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के रिकी पोंटिंग के 31 शतकों की बराबरी की. अब वन डे में केवल सचिन तेंदुलकर ही उनसे आगे हैं. 

शिखर धवन हुए फ्लॉप
शिखर धवन रिजर्व खिलाड़ी अजिंक्य रहाणे की जगह टीम में शामिल हुए थे. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वह निजी कारणों से वन डे सीरीज से बाहर रहे थे. इस तरह न्यूजीलैंड के खिलाफ उनका कमबैक हो रहा था. उन्होंने पहले ही ओवर में चौका लगाकर अपने इरादे जाहिर कर दिए, लेकिन मैच के तीसरे ओवर में ट्रेंट बोल्ट ने शिखर के इरादों पर विराम लगा दिया. उन्होंने 12 गेंदों पर केवल 9 रन बनाए. 

ट्रेंट बोल्ट रहे हिट
किसी भी विदेशी खिलाड़ी के लिए भारत की परिस्थितयों में साहस के साथ बेहतर परफोर्म करना हमेशा ही एक चुनौती होता है, लेकिन बोल्ट ने केवल पहले वन डे में न केवल अच्छा परफॉर्म किया बल्कि उन्होंने इस बात के संकेत भी दे दिए कि इस सीरीज में सेंसेशनल स्विंग बॉलिंग का प्रदर्शन देखने को मिलेगा. भारतीय बल्लेबाज हालांकि घरेलू परिस्थितयों में खेल रहे थे लेकिन बोल्ट जानते थे कि कैसे बल्लेबाजों को स्विंग से मात देनी है. बोल्ट ने 10 ओवरों में 35 रन देकर चार खिलाड़ियों को आउट किया. बोल्ट ने भारतीय शीर्ष क्रम को ध्वस्त कर दिया. रोहित शर्मा, शिखर धवन, धोनी के अलावा हार्दिक पांड्या भी बोल्ट के शिकार बने. 

केदार जाधव फिर हुए फ्लॉप
पुणे के केदार जाधव के पास रविवार को यह मौका था कि वह टीम में अपनी जगह सुनिश्चित करने के लिए परफॉर्म करें. केदार रोहित शर्मा के आउट होने के बाद चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करने आए. विराट कोहली के साथ जाधव ने सतर्कता के साथ पारी को आगे बढ़ाया. दोनों के बीच 50 रनों की पार्टरशिप हुई, तभी जाधव ने कूल खोया. इसी के साथ जाधव ने अपना विकेट भी खो दिया. साथ ही चौथे नंबर पर बल्लेबाज करने की उनकी दावेदारी एक बार फिर कमजोर पड़ गई.