close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

INDvsNZ: सीरीज में पहली जीत पर विलियम्सन बोले, उम्मीद नहीं थी कि पिच ऐसा कमाल करेगी

न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियम्सन ने सीरीज में पहली जीत हासिल करने पर कहा कि भारत के खिलाफ ऐसी जीत शानदार है.

INDvsNZ: सीरीज में पहली जीत पर विलियम्सन बोले, उम्मीद नहीं थी कि पिच ऐसा कमाल करेगी
केन विलियम्सन ने टीम की जीत का श्रेय अपनी टीम के गेंदबाजों को दिया. (फाइल फोटो)

हेमिल्टन (न्यूजीलैंड): भारत के खिलाफ चौथे वनडे मैच में मिली जीत से खुश न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम के कप्तान केन विलियम्सन का कहना है कि भारत जैसी मजबूत टीम के खिलाफ इतनी बड़ी जीत मिलना शानदार है. विलियम्सन ने इस जीत का श्रेय अपने गेंदबाजों को दिया है. न्यूजीलैंड ने सेडन पार्क पर गुरुवार को खेले गए चौथे वनडे मैच में भारत को टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का आमंत्रण देते हुए उसकी पारी 92 रनों पर ही समेट दी और इसके बाद 14.4 ओवरों में दो विकेट के नुकसान पर इस लक्ष्य को हासिल कर मेहमान टीम को आठ विकेट से हरा दिया. 

इस मैच के बाद एक बयान में विलियम्सन ने कहा, "हमें उम्मीद नहीं थी कि पिच ऐसा कमाल करेगी. भारत को इस स्कोर पर रोकना हमारे लिए बेहतरीन रहा. मैं टीम के सभी गेंदबाजों को इस जीत का श्रेय देता हूं. भारत जैसी टीम के खिलाफ ऐसी जीत मिलना शानदार बात है." हेमिल्टन वनडे मैच में मिली जीत से टीम खुश है लेकिन कप्तान विलियम्स ने इस बात को भी माना है कि वेलिंग्टन पर खेले जाने वाले मैच की परिस्थितियां अलग होंगी. 

वेलिंग्टन में हालात अलग होंगी
विलियम्सन ने कहा, "हम हमेशा जीत के लिए खेलते हैं और इस मैच का प्रदर्शन शानदार था. हालांकि, वेलिंग्टन में परिस्थितियां अलग होंगी. वहां चुनौती अलग होगी. क्रिकेट का खेल अलग होगा लेकिन यह जीत अच्छी थी." इस मैच में टीम इंडिया का 92 रनों का स्कोर वनडे क्रिकेट में भारत का सातवां सबसे न्यूनतम स्कोर है. वहीं शेष गेंदों के लिहाज से भारत की वनडे टीम में यह सबसे बड़ी हार है. न्यूजीलैंड ने 212 गेंदें शेष रहते हुए मेजबान टीम को हराकर पांच मैचों की सीरीज में अपनी जीत का खाता खोला. 

यह भी पढ़ें: INDvsNZ: हैमिल्टन में टीम इंडिया की शर्मनाक हार के 5 प्रमुख कारण

यह हाल हुआ था टीम इंडिया का पहली पारी में
मेजबान टीम ने टॉस जीतकर भारत को पहले बल्लेबाजी का आमंत्रण दिया था और ट्रैंट बाउल्ट (5/21) एवं कोलिन ग्रैंडहोम (3/26) की बेहतरीन गेंदबाजी के दम पर उसकी पारी 92 रनों पर ही समेट दी. इस मैच में एक समय भारत ने 40 रन पर अपने सात विकेट गंवा दिए थे. उस पर अपने अब तक के न्यूनतम स्कोर 54 रनों पर आउट होने का खतरा मंडरा रहा था लेकिन हार्दिक पांड्या ने 16 रनों की संक्षिप्त किंतु तेज पारी खेल कर उस पर से यह संकट टाल दिया. भारत की ओर से युजवेंद्र चहल ने सबसे अधिक नाबाद 18 रन बनाए और उसके सात बल्लेबाज दहाई का आंकड़ा नहीं पार कर सके. हार्दिक और चहल के अलावा कुलदीप यादव ने भी 15 रन बनाए.

यह भी पढ़ें: INDvsNZ: ट्रेंट बोल्ट के कहर ने टीम इंडिया की कमर तोड़ी, जानिए कैसे हुआ बुरा हाल

लक्ष्य का पीछा तेजी से किया, पर दो विकेट भी गंवाए
इसके बाद, भारत की ओर से मिले आसान लक्ष्य को हासिल करने उतरी न्यूजीलैंड ने 14 के स्कोर पर मार्टिन गुप्टिल (14) के रूप में अपना पहला विकेट गंवाया. उन्हें भुवनेश्वर कुमार ने हार्दिक पांड्या के हाथों कैच आउट करवाया. गुप्टिल के आउट होने के बाद कप्तान केन विलियम्सन (11) ने दूसरे विकेट के लिए हैनरी निकोल्स (नाबाद 30) के साथ 25 रन ही जोड़े थे कि विलियम्सन 39 के स्कोर पर भुवनेश्वर की गेंद पर विकेट के पीछे खड़े दिनेश कार्तिक के हाथों लपके गए. निकोल्स ने इसके बाद, रॉस टेलर (नाबाद 37) के साथ नाबाद 54 रनों की शानदार अर्धशतकीय साझेदारी की और बिना कोई और नुकसान किए न्यूजीलैंड को उसके लक्ष्य तक पहुंचाया. भारत और न्यूजीलैंड के बीच इस सीरीज का पांचवां और आखिरी वनडे मैच वेलिंग्टन में तीन फरवरी को खेला जाएगा. 

(इनपुट आईएएनएस)