close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

क्या महिलाओं पर टिप्पणी वाले विवाद के बाद बदल गए हैं केएल राहुल, कहा- अब ऐसा हो गया हूं

ओपनर केएल राहुल ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दो टी20 मैचों की सीरीज में 50 और 47 रन की पारियां खेलीं. 

क्या महिलाओं पर टिप्पणी वाले विवाद के बाद बदल गए हैं केएल राहुल, कहा- अब ऐसा हो गया हूं
केएल राहुल देश के उन चुनिंदा क्रिकेटरों में हैं, जिन्होंने तीनों फॉर्मेट (टेस्ट, वनडे और टी20) में शतक बनाए हैं. (फोटो: IANS)

बेंगलुरू: ओपनर लोकेश राहुल (Lokesh Rahul) ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी20 सीरीज (India vs Australia) में वापसी करते हुए दोनों मैचों में अच्छी पारियां खेलीं. वैसे, टीम इंडिया (Team India) ये दोनों ही मैच हार गई, लेकिन यह जरूर दिखा कि केएल राहुल उस विवाद के साये से बाहर निकल आए हैं, जिसके कारण उन्हें बैन का सामना करना पड़ा था. खुद राहुल ने भी यह माना. केएल राहुल ने यह भी बताया कि उनमें विवाद के बाद क्या बदलाव आया है. 

केएल राहुल (KL Rahul) और हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) जनवरी में तब विवादों में घिर गए थे, जब उन्होंने एक टीवी चैनल पर महिलाओं के खिलाफ टिप्पणी की थी. बीसीसीआई (BCCI) ने इसके बाद इन दोनों क्रिकेटरों पर बैन लगा दिया था. जब इस मामले में सुनवाई शुरू नहीं हो सकी तो बैन हटा लिया गया. 
केएल राहुल देश के उन चुनिंदा क्रिकेटरों में हैं, जिन्होंने तीनों फॉर्मेट (टेस्ट, वनडे और टी20) में शतक बनाए हैं. उन्होंने टेस्ट में पांच, वनडे में एक और टी20 क्रिकेट में दो शतक बनाए हैं. 

यह भी पढ़ें: INDWvsENGW: स्मृति मंधाना और पूनम राउत की 129 रन की साझेदारी के बावजूद इंग्लैंड से हारा भारत

केएल राहुल इस विवाद के चलते ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड दौरे पर वनडे सीरीज नहीं खेल पाए. लेकिन उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मौजूदा सीरीज में वापसी करते हुए 50 और 47 रन की पारियां खेलीं. राहुल  ने दूसरे ट्वेंटी20 मैच के बाद कहा, ‘इसमें कोई शक नहीं कि यह मुश्किल समय था. मेरा मतलब है कि बतौर खिलाड़ी, बतौर व्यक्ति हर किसी को मुश्किल समय से गुजरना होता है. यह इस दौर से गुजरने का मेरा समय था और जैसा कि मैंने कहा कि इससे मुझे अपने खेल और खुद पर ध्यान देने का समय मिला. मैं ऐसा व्यक्ति हूं जो चीजों को उनके हिसाब से लेता है जैसे वे घटती हैं.’ 

यह पूछने पर कि इस पूरे विवाद ने बतौर व्यक्ति उन्हें बदला है तो 26 साल के इस खिलाड़ी ने कहा, ‘इससे मैं थोड़ा विनम्र हो गया हूं. मैं इस मौके का सम्मान करता हूं कि मुझे देश के लिए खेलने का मौका दिया गया है. हर किसी बच्चे का सपना अपने देश के लिए खेलने का होता है और मैं भी कुछ अलग नहीं हूं.’ कर्नाटक के इस खिलाड़ी ने कहा, ‘मैं जहां हूं, उसे महत्व देता हूं और मौकों का फायदा उठा रहा हूं और क्रिकेट पर काम कर रहा हूं.’

(इनपुट: भाषा)