लार पर बैन को लेकर मिचेल स्टार्क की ICC को चेतावनी, जानें क्या कहा

ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर मिचेल स्टार्क का मानना है कि अगर लार पर बैन लगाने के बाद गेंद स्विंग या सीम नहीं करेगी तो फिर कोई युवा तेज गेंदबाज क्यों बनना चाहेगा.

लार पर बैन को लेकर मिचेल स्टार्क की ICC को चेतावनी, जानें क्या कहा

नई दिल्ली: ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज मिचेल स्टार्क (Mitchell Starc) ने लार पर प्रतिबंध को लेकर आईसीसी (ICC) को एक बड़ी चेतावनी दी है. स्टार्क ने कहा कि अगर आईसीसी ने लार का विकल्प नहीं ढूढ़ा तो बल्ले और गेंद के बीच का रोमांच खत्म हो जाएगा और इससे क्रिकेट पूरी तरह से एक तरफा हो जाएगा. अगर ऐसा हुआ तो भविष्य में कोई भी युवा खिलाड़ी तेज गेंदबाज नहीं बनना चाहेगा और बने भी क्यों, जब गेंद न तो स्विंग होगी न सीम, ऐसे में तेज गेंदबाज करेगा तो क्या करेगा? ऐसे हालात में तो दुनिया का कोई भी बल्लेबाज बड़े से बड़े गेंदबाज को आसानी से पीट देगा और इसी बात का स्टार्क को सबसे ज्यादा डर है.

यह भी पढ़ें- B’day Special: वो भारतीय क्रिकेटर जिसने कमेंटेटर से लेकर कोच तक का रोल बखूबी निभाया

अपना डर जाहिर करते हुए स्टार्क ने कहा कि एक तेज गेंदबाज अपनी गेंदबाजी में पूरी जान लगा देता है. अगर पिच से मदद न भी मिल रही हो तब भी एक पेसर अपनी जिम्मेदारी से पीछे नहीं हटता और हर एक ओवर में एक नई रणनीति के साथ गेंदबाजी करता है जिससे कि उसकी टीम को विकेट मिल सके. वैसे तो तेज गेंदबाजों को सपाट पिचों पर गेंदबाजी करने का अनुभव प्राप्त है पर ऐसा पहली बार होगा जब लार से गेंद को नहीं चमकाया जाएगा और ये तो सभी जानते हैं कि एक चमकती हुई गेंद ज्यादा स्विंग होती है. मगर लार पर प्रतिबंध के बाद कोई भी गेंदबाज बॉल को कैसे स्विंग करा पाएगा ये आज क्रिकेट का सबसे बड़ा सवाल है.

लार के इस्तेमाल पर बैन के बारे में बात करते हुए स्टार्क ने कहा, 'हम (गेंदबाज) अपने महत्व में कमी और यह एकतरफा मुकाबला (बल्लेबाजों से) नहीं चाहते हैं. ऐसे में कुछ करने की जरूरत है ताकि गेंद स्विंग हो सके. अगर ऐसा नहीं होगा तो लोग क्रिकेट नहीं देखेंगे और बच्चे गेंदबाज नहीं बनना चाहेंगे. ऑस्ट्रेलिया में पिछले कुछ सालों में हमारी पिचें सपाट हुई है और अगर गेंद सीधे जाती है तो यह एक बहुत ही उबाऊ प्रतियोगिता होगी. अभी दुनिया में परिस्थितियां सामान्य नहीं हैं और अगर वे कुछ समय के लिए गेंद पर लार के इस्तेमाल को रोकना चाहते हैं तो उन्हें उस दौरान इस तरह की किसी और चीज के इस्तेमाल के बारे में सोचने की जरूरत है.'

लार पर प्रतिबंध के बाद स्टार्क ने भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच होने वाले डे-नाइट टेस्ट के बारे में बात की और कहा, 'मुझे लगता है कि भारत के ऑस्‍ट्रेलिया दौरे के दौरान पिंक बॉल टेस्‍ट काफी अच्‍छा रहेगा. फैंस भी इस फॉर्मेट को पसंद करेंगे. यह गेम का एक अलग पहलू है. मुझे लगता है कि गेंद और बल्‍ला काफी करीब आ गए हैं. भारत अपने घर पर अब पिंक बॉल टेस्‍ट खेल चुका है. ऐसे में अब वो भी इसके साथ तालमेल बैठा चुके होंगे. मुझे लगता है कि पिंक बॉल टेस्‍ट में हमारे पास अपने घर में काफी शानदार रिकॉर्ड है. ऐसे में भारत के खिलाफ इसे खेलने में कोई अंतर नहीं आएगा. उन्‍हें वहां इसका एडवांटेज मिलेगा.'