close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

VIDEO: चेतेश्वर पुजारा ने शतक बनाकर टीम को जिताया, फिर भी दर्शकों ने कहा- ‘चीटर’

सौराष्ट्र ने रणजी ट्रॉफी के सेमीफाइनल में कर्नाटक को पांच विकेट से हराया. चेतेश्वर पुजारा दूसरी पारी में 131 रन बनाकर नाबाद रहे. 

VIDEO: चेतेश्वर पुजारा ने शतक बनाकर टीम को जिताया, फिर भी दर्शकों ने कहा- ‘चीटर’
चेतेश्वर पुजारा ने रणजी ट्रॉफी के सेमीफाइनल में 45 और 131 रन की पारियां खेलीं. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: आपने ऐसे मौके कम ही देखे होंगे, जब कोई खिलाड़ी शतक लगाए और अपनी टीम को जिताकर ही मैदान से लौटे, इसके बावजूद उसे दर्शक चीटर-चीटर कहकर पुकारें. खासकर अगर वह खिलाड़ी चेतेश्वर पुजारा जैसा बड़ा बल्लेबाज हो, तो यह सोचना भी मुश्किल है. लेकिन बेंगलुरु में पुजारा को शतक लगाकर भी दर्शकों की हूटिंग का सामना करना पड़ा. हालांकि, उनकी पारी की बदौलत सौराष्ट्र ने कर्नाटक को हराकर रणजी ट्रॉफी के फाइनल में जगह बना ली. अब तीन फरवरी से होने वाले फाइनल में सौराष्ट्र का मुकाबला विदर्भ से होगा. 

बेंगलुरू के चिन्नास्वामी स्टेडियम में सौराष्ट्र और कर्नाटक के बीच रणजी ट्रॉफी का सेमीफाइनल मुकाबला खेला गया. इस मैच में कर्नाटक ने पुजारा को 279 रन बनाने का लक्ष्य दिया. सौराष्ट्र ने लक्ष्य का पीछा करते हुए 23 रन पर तीन विकेट गंवा दिए थे. उस वक्त सौराष्ट्र की टीम बेहद दबाव में थी. लेकिन चेतेश्वर पुजारा (131) और शेल्डन जैकसन (100) ने 214 रन की साझेदारी कर खेल पलट दिया. जैकसन जब चौथे विकेट के रूप में आउट हुए, तब तक सौराष्ट्र का स्कोर 237 रन हो चुका था. 

 

सौराष्ट्र के चेतेश्वर पुजारा को दो जीवनदान मिले. उन्हें अंपायर सैयद खालिद की गलती का फायदा पुजारा को मिला. पुजारा ने दूसरी पारी में तेज गेंदबाज विनय कुमार की एक गेंद को डिफेंड करने की कोशिश की, लेकिन वे चूक गए. विनय कुमार और विकेटकीपर समेत सभी खिलाड़ियों ने पूरे भरोसे के साथ आउट की अपील की. अंपायर ने पुजारा को आउट नहीं दिया. 

34 साल के पुजारा ने भी इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी और वह बल्लेबाजी करने लगे. बाद में उन्होंने फर्स्ट क्लास करियर की 49वीं सेंचुरी जड़ी. बाद में रिप्ले में साफ पता चला कि गेंद बल्ले का बाहरी किनारा लेकर विकेटकीपर के दस्तानों में गई थी. जब पुजारा पवेलियन लौट रहे थे तो मैदान में मौजूद दर्शकों ने उन्हें 'चीटर-चीटर' कहकर हूट करने लगे. 

 

 

 

 

इस मैच में कर्नाटक ने पहली पारी में 275 और दूसरी पारी में 239 रन बनाए. सौराष्ट्र की टीम पहली पारी में 236 रन ही बना सकी थी, लेकिन उसने दूसरी पारी में 5 विकेट पर 279 रन बनाकर मैच जीत लिया. चेतेश्वर पुजारा ने पहली पारी में 45 रन बनाए और दूसरी पारी में 131 रन बनाए. पुजारा ने हाल ही में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चार मैचों की टेस्ट सीरीज में 521 रन बनाए थे. उन्हें मैन ऑफ द सीरीज चुना गया था.