पाकिस्तानी खिलाड़ी भारत के खिलाफ 'सुसाइड बॉम्बर' जैसे हो जाते थे, अफरीदी का खुलासा

अफरीदी की मानें तो खेल के मैदान पर पाकिस्तान के खिलाड़ी किसी सुसाइड बॉम्बर की तरह ही भारतीय टीम को तबाह करने के इरादे से उतरते हैं.  

पाकिस्तानी खिलाड़ी भारत के खिलाफ 'सुसाइड बॉम्बर' जैसे हो जाते थे, अफरीदी का खुलासा
ऑलराउंडर क्रिकेटर रहे शाहिद अफरीदी ने अपनी आत्मकथा 'गेम चेंजर' में कई खुलासे किए हैं.

नई दिल्ली: भारत-पाकिस्तान के बीच प्रतिद्वंदिता जगजाहिर है. यह लड़ाई क्रिकेट के मैदान पर भी दोनों देशों के मध्य देखने को मिलती है. हाल ही में पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर शाहिद अफरीदी (Shahid Afridi) ने भी दोनों चिर प्रतिद्वंदी देशों के बीच मैदान पर होने वाले संग्राम को लेकर पाकिस्तानी रणनीति का खुलासा किया है. अफरीदी की मानें तो खेल के मैदान पर पाकिस्तान के खिलाड़ी किसी सुसाइड बॉम्बर (Suicide Bomber) की तरह ही भारतीय टीम को तबाह करने के इरादे से उतरते थे.  

ऑलराउंडर क्रिकेटर अफरीदी ने अपनी आत्मकथा 'गेम चेंजर' में लिखा है, ''बचपन से ही भारत बनाम पाकिस्तान मैच मुझे काफी रोमांचक लगता था. जब मैंने भारत के खिलाफ खेलना शुरू किया तो हर पाकिस्तानी की भांति ही हमारी भी भावना होती थी, जिससे खेल एक युद्ध में बदल जाता था.''

यह भी पढ़ें: IPL-12: रोजा रखकर मैदान पर उतरे ये दो खिलाड़ी, शिखर धवन ने दोनों को यूं किया सलाम 

पाकिस्तानी खिलाड़ी ने अपनी आत्मकथा में लिखा, ''मैदान में भारत के खिलाफ हमारे लिए आदेश काफी सरल थे; जैसे कि जाओ और उन्हें तबाह कर दो. करीब-करीब एक आत्मघाती हमलावर की तरह ही.'' हालांकि, अफरीदी ने तुरंत इसके बाद अपनी सफाई में लिखा, ''मैं जानता हूं कि राजनीतिक रूप से इसका गलत मतलब हो सकता है. हालांकि, इसके लिए हमें सीधे तौर पर ऐसा कोई ऑर्डर नहीं दिया जाता था, इसलिए मुझे बख्श देना और माफ करना. लेकिन आप मेरे कहने का मतलब जानते हो. कुछ भी अनसुलझा या अस्पष्ट न रहने दें.''

यह भी पढ़ें- भारत के खिलाफ इस मैच में कांप रहे थे अफरीदी, डोलती दिख रही थी धरती; अब किया खुलासा

पाकिस्तान के शाहिद अफरीदी (Shahid Afridi) जब अपनी लय में होते थे तो दुनिया के दिग्गज गेंदबाज भी उनसे थर्राते थे. लेकिन हकीकत यह भी है कि यह बल्लेबाज जब भी भारत के खिलाफ उतरता था तो थर-थर कांपता था. यह दावा किसी और ने नहीं, बल्कि खुद अफरीदी ने किया है. इस ऑलराउंडर खिलाड़ी ने अपनी आत्मकथा 'गेम चेंजर' (Game Changer) में इस यादगार किस्से का खुलासा किया है.

अपनी आत्मकथा ‘गेम चेंजर’ में एक और बड़ा खुलासा करते हुए अफरीदी ने कहा, ''मुझे यह सब स्पष्ट रूप से याद है कि जब हम चेन्नई में भारत के खिलाफ खेलने गए थे तो मैं बल्लेबाज सईद अनवर के साथ मैदान पर ओपनिंग करने उतरा, जहां भीड़ जोर-जोर से चिल्ला रही थी. मैंने पहली बार इतना शोर सुना था. उस दौरान मुझे ऐसा महसूस हो रहा था जैसे धरती हिल रही हो. मैं कसम खाकर कहता हूं कि मुझे लग रहा था जैसे मेरे हाथ में बल्ला ही न हो.''