close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

TNPL, KPL में मैच फिक्सिंग की खबरों पर बोले गावस्कर- 'इसकी जड़ को काबू नहीं कर सकते'

Match Fixing: सुनील गावस्कर का मैच फिक्सिंग जैसे मुद्दे पर मानना है कि लालच का कोई इलाज नहीं है.

TNPL, KPL में मैच फिक्सिंग की खबरों पर बोले गावस्कर- 'इसकी जड़ को काबू नहीं कर सकते'
सुनील गावस्कर का मानना है कि क्रिकेट में भ्रष्टाचार की जड़ लालच है. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: मैच फिक्सिंग जैसी चीज एक बार फिर भारतीय क्रिकेट में घुसपैठ कर रही है, इन मामलों मे ंबीसीसीआई (BCCI) ने सक्रियता दिखाई है और उसकी भ्रष्टचार रोधी ईकाई (ACU) ने कड़ी कार्रवाई के संकेत भी दिए हैं. ऐसे में दिग्गज बल्लेबाज सुनील गावस्कर ने कहा है कि लालच का कोई ईलाज नहीं है. हाल ही में तमिलनाडु प्रीमियर लीग (TNPL) और कर्नाटक प्रीमियर लीग (KPL) में मैच फिक्सिंग की कई खबरें सामने आई थीं.

कुछ सुधार नहीं सकता लालच को
इन खबरों को लेकर बीसीसीआई ने अपना पुराना रुख फिर साफ करते हुए कहा था कि उसकी जीरो टोलरेंस की नीति जारी रहेगी. इन लीग्स में भ्रष्टाचार के मामले सामने आने के बाद बीसीआई की भ्रष्टचार रोधी ईकाई (ACU) ने सख्त रुख अपनाया है. गावस्कर ने कहा, "लालच ऐसी बला है जिसे शिक्षा, मार्गदर्शन, सेमीनार या भ्रष्टाचार रोधी अधिकारी नहीं सुधार सकते. सर्वश्रेष्ठ समाज, सबसे ज्यादा विकसित समाज में भी अपराधी होते हैं. क्रिकेट में भी आपके पास अलग तरह के लोग होते हैं जो लालच में आ जाते हैं. इसके अलग कारण हो सकते हैं कि जिनकी वजह से लोग इसके लिए बाध्य हो जाते हैं. मैं समझता हूं कि आप इसे नियंत्रित नहीं कर सकते."

यह भी पढ़ें: VIDEO: सुनील गावस्कर ने बीच मैच में KBC के अंदाज में पूछा सवाल, फैंस को दिए 4 ऑपशन्स

तकनीक पकड़ेगी गलतियां
गावस्कर ने कहा कि अब तकनीक के माध्यम से इस बात को सुनिश्चित किया जाता है कि ऐसे लोग बच नहीं पाएं. उन्होंने कहा, "मैं उन स्थितियों को समझ सकता हूं जहां खिलाड़ी सोचता है कि वह इससे बच निकलेगा, लेकिन आप बच नहीं सकते क्योंकि इसे टीवी पर दिखाया जा रहा है, हर एक छोटी चीज दिखाई जा रही है. आप कुछ गलत करते हैं तो पकड़े जाएंगे."

लोगों को अब भी क्रिकेट पसंद है
भ्रष्टाचार के मामले सामने आने के बाद भी भारत के पूर्व कप्तान को लगता है कि इन टूर्नामेंटस को लोगों का समर्थन हासिल है और यह भारतीय क्रिकेट को आगे ले जाएंगे. उन्होंने कहा, "आप जिलों से आ रही प्रतिभाओं को देखिए. उदाहरण के तौर पर कर्नाटक प्रीमियर लीग, कई लोग राज्य के अंदरुनी इलाकों से आए हैं जिन्हें कर्नाटक के सर्वश्रेष्ठ जौहरी भी शायद नहीं निकाल पाते." 

टीएनपीएल और केपीएल में भ्रष्टाचार की खबरों के बावजूद गावस्कर ने इन लीग्स तारीफ करते हुए उन्हें अहम बताया. उन्होंने कहा, "यही टीएनपीएल और बाकी की अन्य लीगों के साथ है. मुझे लगता है कि यह लीग काफी अच्छी हैं. यह भारतीय क्रिकेट को और ज्यादा प्रतिभाएं दे रही हैं."
(इनपुट आईएएनएस)