भारत में क्रिकेट का क्रेज, फाइनल के लिए हनीमून कैंसिल कर देते हैं इतने प्रतिशत लोग

Survey says, 42% Indians will cancel honeymoon for cricket final | भारत में क्रिकेट का क्रेज: फाइनल के लिए हनीमून कैंसिल कर देते हैं इतने प्रतिशत लोग

भारत में क्रिकेट का क्रेज, फाइनल के लिए हनीमून कैंसिल कर देते हैं इतने प्रतिशत लोग
भारत में खेलों के प्रति दीवानगी दुनिया भर के मुकाबले कहीं ज्यादा है. (फोटो: IANS)

मुंबई: कहा जाता है कि भारत में क्रिकेट (Indian Cricket) एक धर्म है और क्रिकेटर को उनके फैन (Indian Cricket Fans) भगवान की तरह पूजते हैं. इस देश में क्रिकेट (Cricket) की दीवानगी को साबित एक सर्व में भी हुई है. जिसमें बहुत से भारतीय फैंस अपना हनीमून तक कैंसिल कर देते हैं जब कोई क्रिेकट फाइनल मैच होना हो तो. इस अध्ययन से यह बात सामने आई है कि भारतीय खेलों के फैंस बहुत ही आशावादी हैं और खेल उनके यात्रा के बर्ताव को बहुत ज्यादा प्रभावित करता है. 

सफर करने बर्ताव पर असर
इस शोधकार्य में पाया गया है कि 44 प्रतिशत भारतीय खेल प्रशंसकों को लगता है कि उनकी नेशनल टीम या प्लेयर अगले साल इंटरनेशनल टूर्नामेंट जीतने में कामयाब होंगे. वहीं दुनिया भर के फैंस का इस मामले में प्रतिशत केवल 34 ही है. इस अध्ययन के लिए एक डिजिटल प्लेटफॉर्म ने एक सर्वे किया हैं जिसमें भारतीय स्पोर्ट फैंस की यात्रा करने के बर्ताव पर क्या असर डालता है.

यह भी पढ़ें: संन्यास या वापसी के सवाल पर आखिरकार बोले धोनी, 'जनवरी तक मत पूछो'

किस खेल के फैंस हैं ज्यादा आशावादी
इस सर्वे के अनुसार अपनी टीम के कोई टूर्नामेंट जीतने की उम्मीद के मामले में सबसे ज्यादा आशावादी फुटबॉल फैंस हैं जबकि क्रिकेट फैंस उनसे पीछे हैं. 88 प्रतिशत क्रिकेट फैंस को लगता है कि उनकी टीम या खिलाड़ी अगले चार साल में कोई इंटरनेशनल टूर्नामेंट जीतेंगे वहं 79 प्रतिशत फुटबॉल फैंस को भी ऐसा ही कुछ लगता है.

हनीमून तक कैंसिल करने को तैयार
इस अध्ययन में पाया गया है कि 42 प्रतिशत भारतीय अपने प्रिय खेल का फाइनल में देखने के लिए अपनी नौकरी तक दाव पर लगाने को तैयार रहते हैं. जबकि 42 प्रतिशत अपना हनीमून कैंसिल कर देंगे अगर उस समय उनकी टीम या फेवरेट खिलाड़ी का कोई बड़ा मैच हो तो. वहीं इस मामले में दुनियाभर में यह प्रतिशत केव 19 प्रतिशत है. 

यह भी पढ़ें: T20 Series: टीम इंडिया में नहीं थे विराट, तब भी क्लीन स्वीप किया था विंडीज को

एक साल में इतनी यात्रा करते हैं फैन
बहुत भारतीय फैंस अपनी टीम का लाइव मैच देखने के लिए सफर करना अपनी प्राथमिकताओं में रखते हैं. सर्वे के अनुसार 82 प्रतिशत भारतीयों ने पिछले साल ही एक से पांच यात्राएं की हैं जबकि छह से 10 यात्राएं करने के लिए वे भविष्य में योजना बना रहे हैं. 37 प्रतिशत लोगों का मानना है कि वे परिवार के साथ छुट्टी जाने के बजाए खेल देखने के लिए यात्रा करना पसंद करेंगे. 

किस खेल के लिए कितने लोग करते हैं सफर
इस शोध में पता चला है कि भारतीय फैन्स में 86 प्रतिशत क्रिकेट के लिए, 51 प्रतिशत फुटबॉल, 31 प्रतिशत टेनिस, 23 प्रतिशत हॉकी और 18 प्रतिशत मोटरस्पोर्ट्स के लिए सफर करते हैं. इस शोध में 18 साल की उम्र से बड़े 29 इंटरनेशनल मार्केट के 22,603 स्पोर्ट्स फैंस से बात की गई थी