close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कॉट्रेल ने धोनी के ‘देश प्रेम’ को किया सलाम, अंपायर को सैल्यूट करने के लिए हैं मशहूर

वेस्टइंडीज के तेज गेंदबाज शेल्डन कॉट्रेल ने विश्व कप में अपने देश की ओर से सबसे अधिक विकेट लिए थे. 

कॉट्रेल ने धोनी के ‘देश प्रेम’ को किया सलाम, अंपायर को सैल्यूट करने के लिए हैं मशहूर
एमएस धोनी और शेल्डन कॉट्रेल. विंडीज के कॉट्रेल ने 2013 में भारत के खिलाफ ही अपने टेस्ट करियर की शुरुआत की थी. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: अंपायर को सैल्यूट करने के लिए मशहूर वेस्टइंडीज के शेल्डन कॉट्रेल (Sheldon Cottrell) ने महेंद्र सिंह धोनी के ‘देश प्रेम’ को सलाम किया है. तेज गेंदबाज कॉट्रेल खुद भी जमैका डिफेंस फोर्स में सैनिक हैं. उन्होंने एमएस धोनी (MS Dhoni) द्वारा भारतीय सेना के साथ कुछ समय बिताने के फैसला को सराहा है. कॉट्रेल हाल ही में संपन्न आईसीसी विश्व कप के दौरान अपने स्पेशल सैल्यूट के चर्चा में रहे थे. 

शेल्डन कॉट्रेल ने हाल ही में इंग्लैंड में संपन्न आईसीसी विश्व कप में 12 विकेट लिए थे. वे अपनी टीम की ओर से सबसे अधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज बने थे. वे विश्व कप के दौरान विकेट लेने के बाद अंपायर को सैल्यूट करते थे. उनका सैल्यूट करने का यह तरीका वायरल हुआ था. कॉट्रेल का कहना है कि वे अंपायर के जरिए अपने उन साथी सैनिकों को सैल्यूट करते हैं, जो देश में अपनी सेवाएं दे रहे हैं.

 

Sheldon Cottrell

29 साल के शेल्डन कॉट्रेल ने ट्विटर पर एमएस धोनी की तारीफ की. उन्होंने लिखा, ‘यह आदमी (धोनी) मैदान पर प्रेरणा का स्रोत है. इसके अलावा यह मैदान के बाहर देश के प्रति अपने कर्तव्य को भी अच्छी तरह समझता है.’ कॉट्रेल ने अपने ट्वीट में एक वीडियो साझा किया. इसमें भारत के राष्ट्रपति धोनी को भारतीय सेना में मानद लेफ्टिनेंट कर्नल का ओहदा देते हुए दिखाई दे रहे हैं. 

 

 

बता दें कि एमएस धोनी ने भारतीय सेना की पैराशूट रेजिमेंट के साथ दो महीने की ट्रेनिंग शुरू कर दी है. इसी कारण धोनी ने वेस्टइंडीज दौरे से अपना नाम वापस ले लिया था. धोनी बुधवार को पैराशूट रेजिमेंट की बटालियन में शामिल हुए, जिसका हेडक्वार्टर बेंगलुरू में है. 38 वषीय धोनी पैराशूट रेजिमेंट (106 पैरा टीए बटालियन) की प्रादेशिक सेना इकाई में लेफ्टिनेंट कर्नल की पोस्ट पर मौजूद हैं. धोनी 2015 में एक क्वालीफाइड पैराट्रपर बने. उन्होंने आगरा स्थित ट्रेनिंग कैंप में ट्रेनिंग के रूप में आर्मी के विमान से पांच बार पैराशूट के साथ जंप लगाई थी. 

विंडीज के कॉट्रेल ने 2013 में भारत के खिलाफ ही अपने टेस्ट करियर की शुरुआत की थी. तब भारत के कप्तान एमएस धोनी ही थे. हालांकि, उनका टेस्ट करियर कामयाब नहीं रहा. उन्हें पहले ही टेस्ट के बाद ड्रॉप कर दिया गया था. हालांकि, उन्होंने इसके बाद टीम में वापसी की, लेकिन एक ही टेस्ट मैच खेलकर बाहर हो गए. उन्होंने दो टेस्ट के अलावा 23 वनडे और 13 टी20 मैच खेले हैं. 

 

(इनपुट: आईएएनएस)