close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

36 साल की उम्र में गेंदबाज झूलन गोस्वामी ने फिर रचा इतिहास, बनाया ये रिकॉर्ड

नई रैंकिंग में ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के बीच हुई सीरीज के नतीजों को भी शामिल किया गया है.

36 साल की उम्र में गेंदबाज झूलन गोस्वामी ने फिर रचा इतिहास, बनाया ये रिकॉर्ड
(फोटो साभार: सोशल मीडिया )

दुबई: इंग्लैंड के खिलाफ हाल में संपन्न सीरीज में भारत की जीत में अहम भूमिका निभाने वाली अनुभवी तेज गेंदबाज झूलन गोस्वामी एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय गेंदबाजों की नवीनतम आईसीसी महिला रैंकिंग में शीर्ष पर पहुंच गई हैं. फरवरी 2017 में भी शीर्ष रैंकिंग हासिल करने वाली 36 साल की झूलन ने सीरीज में आठ विकेट चटकाए जिससे भारतीय टीम को आठ टीमों की चैंपियनशिप में दूसरे स्थान पर पहुंचने में मदद मिली. मेजबान न्यूजीलैंड और शीर्ष चार टीमें 2021 महिला वर्ल्ड कप के लिए सीधे क्वालीफाई करेंगी.

नवीनतम रैंकिंग में ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के बीच हुई सीरीज के नतीजों को भी शामिल किया गया है. ऑस्ट्रेलिया ने न्यूजीलैंड पर 3-0 की जीत के साथ वर्ल्ड कप में सीधे क्वालीफाई करने की ओर मजबूत कदम बढ़ाए. टीम 12 मैचों में 22 अंक के साथ शीर्ष पर है.

भारत 15 मैचों में 14 अंक के साथ दूसरे स्थान पर है जबकि न्यूजीलैंड के 15 मैचों में 14 अंक हैं. गत वर्ल्ड चैंपियन इंग्लैंड 12 मैचों में 12 अंक के साथ दक्षिण अफ्रीका के बाद पांचवें स्थान पर है.

एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों में 218 विकेट के साथ सबसे सफल गेंदबाज झूलन शीर्ष रैंकिंग पर सबसे अधिक समय तक रहने के रिकॉर्ड के भी करीब पहुंच गई हैं. झूलन 1873 दिनों तक दुनिया की नंबर एक गेंदबाज रही हैं. उनसे अधिक ऑस्ट्रेलिया की पूर्व तेज गेंदबाज कैथरीन फिट्जपैट्रिक ही शीर्ष स्थान पर रही हैं. कैथरीन 2113 दिनों तक शीर्ष पर रहीं.

शिखा पांडेय 5वें नंबर पर
झूलन की तेज गेंदबाजी जोड़ीदार शिखा पांडेय को भी 12 स्थान का फायदा हुआ है और वह पांचवें स्थान पर पहुंच गई हैं. उन्होंने भी इंग्लैंड के खिलाफ आठ विकेट चटकाए. नौ साल में यह पहली बार हुआ है जब भारत की दो गेंदबाज शीर्ष पांच में शामिल हैं. इससे पहले 2010 में झूलन और रूमेली धर शीर्ष पांच में जगह बनाने में सफल रही थी.

स्मृति मंधाना मजबूत
मौजूदा आईसीसी महिला चैंपियनशिप में 837 रन के साथ सबसे सफल बल्लेबाज बायें हाथ की सलामी बल्लेबाज स्मृति मंधाना ने करियर के सर्वश्रेष्ठ 797 अंक के साथ शीर्ष पर अपनी स्थिति मजबूत कर ली है. इससे पहले 2012 में भी भारत के ही खिलाड़ी एक साथ बल्लेबाजी और गेंदबाजी रैंकिंग में शीर्ष पर थे. तब मिताली राज और झूलन शीर्ष स्थान हासिल करने में सफल रहे थे.

इंग्लैंड की नताली सिवर भी भारत के खिलाफ सीरीज में 130 रन बनाने के बाद 10 स्थान के फायद से करियर के सर्वश्रेष्ठ पांचवें स्थान पर पहुंच गई हैं. भारत-इंग्लैंड सीरीज में उनसे अधिक रन सिर्फ भारत की स्मृति (153 रन) ने भी बनाए थे. इंग्लैंड की ही डैनी वाट भी सात स्थान के फायदे से करियर के सर्वश्रेष्ठ 34वें स्थान पर पहुंच गई हैं.

इसके अलावा बल्लेबाजी रैंकिंग में जिन खिलाड़ियों को फायदा हुआ है उनमें ऑस्ट्रेलिया की एलिसा हिली (एक स्थान के फायदे से 15वें) और रेशेल हेन्स (सात स्थान के फायदे से 21वें) के अलावा न्यूजीलैंड की सोफी डेवाइन (दो स्थान के फायदे से 10वें) और केट पर्किन्स (छह स्थान के फायदे से 31वें) भी शामिल हैं.

गेंदबाजों में जेसी जोनासन (दो स्थान के फायदे से दूसरे) और इंग्लैंड की सोफी एकलेस्टोन (चार स्थान के फायदे से 20वें) आगे बढ़ने में सफल रही है. ऑलराउंडरों की सूची में नताली दो स्थान के फायदे से पांचवें जबकि सोफी तीन स्थान के फायदे से सातवें स्थान पर हैं.

श्रीलंका के खिलाफ 16 मार्च से शुरू हो रही सीरीज में इंग्लैंड 3-0 से क्लीनस्वीप करके भारत को पीछे छोड़ सकता है. श्रीलंका की टीम 12 मैचों में सिर्फ एक जीत के साथ अंतिम स्थान पर है.

(इनपुट-भाषा)