IPL 2020: चोट के बाद क्रिस मॉरिस की वापसी RCB के लिए कैसे हुई फायदेमंद?

दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेटर क्रिस मॉरिस मांसपेशियों में खिंचाव की वजह से मौजूदा आईपीएल सीजन के शुरूआती 4 मैचों में नहीं खेल पाए थे, लेकिन वापसी के बाद उन्होंने धमाल मचा दिया.

IPL 2020: चोट के बाद क्रिस मॉरिस की वापसी RCB के लिए कैसे हुई फायदेमंद?
क्रिस मॉरिस (फोटो-BCCI/IPL)

दुबई: ऑलराउंडर क्रिस मॉरिस (Chris Morris) के लिए बिना दबाव के क्रिकेट उबाऊ है और उन्हें लगता है कि आरसीबी (RCB) में उनकी भूमिका पर स्पष्टता से उन्हें अभी तक आईपीएल 2020 (IPL 2020) में लगातार प्रदर्शन करने में मदद मिली है. मॉरिस की हमेशा आईपीएल टूर्नामेंट में काफी मांग रही है और दिल्ली कैपिटल्स के साथ 4 सीजन खेलने के बाद वह अब बैंगलोर टीम में हैं.

यह भी देखें- युजवेंद्र चहल की मंगेतर धनश्री वर्मा ने अक्षय कुमार के इस गाने पर किया जबरदस्त डांस

वो मांसपेशियों में खिंचाव की वजह से सीजन के शुरूआती 4 मैचों में नहीं खेल पाए थे. चोट से उबरने के बाद मैदान में उतरे इस दक्षिण अफ्रीकी खिलाड़ी ने तुरंत ही असर दिखाना शुरू किया और अब तक 5 रन प्रति ओवर के बेहतरीन इकॉनमी रेट से 5 मैचों में 9 विकेट झटक लिए हैं.

ये पूछने पर कि इस सीजन में उनके लिए क्या कारगर रहा? तो मॉरिस ने शुक्रवार को ऑनलाइन मीडिया कांफ्रेंस में कहा, ‘कोविड-19 की वजह से लगा ब्रेक शरीर और मानिसक रूप से तरोताजा होने के लिए दोनों के लिए अच्छा था. फिर से खेलना अच्छा है और ऐसा सिर्फ योजना को लेकर स्पष्टता से हुआ कि किस तरह से इसको लागू किए जाने की जरूरत है.’

33 साल के इस क्रिकेटर ने कहा, ‘हम काफी ‘होमवर्क’ करते हैं. जब तक मैच होता है, हम जान जाते हैं कि क्या जरूरी है. हमारी योजना काफी स्पष्ट रही है और अगर कुछ गलत होता है तो बी योजना तैयार रहती है, अगर यह भी काम नहीं करती तो हमारे पास सी योजना होती है और यह भी विफल होती है तो मेरा ओवर भी खत्म हो जाता है (हंसते हुए).’

मॉरिस ने कहा कि चोट के बाद रिहैबिलिटेशन का समय उनके लिए काफी मुश्किल था लेकिन सहयोगी स्टाफ ने इसे काफी आसान बना दिया. उन्होंने कहा, ‘इतना महत्वपूर्ण महसूस करना हमेशा अच्छा होता है. मेडिकल स्टॉफ ने शानदार काम किया. यह मेरे लिए नई चोट थी. जब मैं बल्लेबाजी कर रहा था तो मेरे पेट की मांसपेशी अकड़ गई. साढ़े 4 हफ्ते काफी मुश्किल थे.’

मॉरिस ने कहा, ‘मेरे कमरे में उपचार के लिए एक मशीन थी. मैं हर 2 घंटे में बर्फ लगाता, ये काफी मुश्किल वक्त था और अब बिना दर्द के खेलकर सचमुच काफी खुश हूं.’ शुरू में और डेथ ओवर्स में गेंदबाजी के बारे में पूछने पर मॉरिस ने कहा, ‘‘ईमानदारी से कहूं तो मुझे लगता है कि मैं अच्छी स्थिति में हूं. बिना किसी दबाव के क्रिकेट उबाऊ है. बतौर क्रिकेटर आप हमेशा अपनी परीक्षा चाहते हो.’
(इनपुट-भाषा)

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.