अश्विन ने बताया, ‘पोलार्ड ने हमें जीत से दूर किया, लेकिन हमसे यहां हो गई चूक’

मुंबई के खिलाफ अपनी टीम की हार से अश्विन ज्यादा निराश नहीं है क्योंकि इस मैच में पंजाब के बल्लेबाजों ने शानदार वापसी की. 

अश्विन ने बताया, ‘पोलार्ड ने हमें जीत से दूर किया, लेकिन हमसे यहां हो गई चूक’
आखिरी गेंद पर हार के बाद भी अश्विन अपनी टीम से निराश नजर नहीं आए. (फोटो IANS)

मुंबई: इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 24वें मैच मे मुंबई के खिलाफ हार झेलने के बाद पंजाब के कप्तान रविचंद्रन अश्विन ने माना कि केरन पोलार्ड की दमदार पारी मुकाबले को उनसे दूर ले गई. इस मैच में क्रिस गेल और केएल राहुल की शानदार बल्लेबाजी के दम पर पंजाब ने मुंबई को जीत के लिए 198 रनों का लक्ष्य दिया और शुरुआती ओवर में मुंबई को बढ़िया शुरुआत करने से रोका था. इसके बावजूद मुंबई ने आखिरी गेंद पर यह मैच जीत लिया.

पोलार्ड के जलवे को माना अश्विन ने 
अश्विन ने माना की पोलार्ड ने पंजाब से जीत छीन ली क्योंकि 18वें ओवर तक मैच पंजाब के पक्ष में ही था जब मुंबई को आखिरी 12 गेंदों में 32 रनों की दरकार थी वहीं पोलार्ड बल्लेबाजी करने आए थे तब टीम को 72 गेंदों पर 140 रनों की जरूरत थी. इसके बाद पोलार्ड की 31 गेंदों पर 10 छक्के और तीन चौकों की मदद से खेली गई 83 रनों की पारी के दम पर मुंबई ने आखिरी गेंद पर सात विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया.

यह भी पढ़ें: PICS: पोलार्ड ने ऐसे छीना पंजाब से मैच, तूफानी 83 रन पड़े राहुल के शतक पर भारी

यह कहा अश्विन ने
मैच के बाद अश्विन ने कहा, "मैच के आखिर में पोलार्ड ने शानदार बल्लेबाजी की और मुकाबले को हमसे दूर ले गए. हमें बहुत सारी सकारात्मक चीजें भी मिली. हमने बल्लेबाजी के दौरान अच्छा मानसिक संतुलन दिखाया. राहुल ने पारी के अंत तक बल्लेबाजी की. हम अपनी योजनाओं को अधिक चतुराई से लागू कर सकते थे. गेल की पीठ में चोट आई है और हमें देखना होगा कि वह कैसे हैं."

Kieron Pollard

गेल और राहुल के फॉर्म से खुश थे अश्विन
अश्विन का इशारा पंजाब की बल्लेबाजी की ओर था. पंजाब के लिए गेल और केएल राहुल की जोड़ी ने 12.5 ओवर में 116 रन जोड़े और क्रिस गेल ने आउट होने से पहले केवल 36 गेंदों पर 63 रनों की पारी खेली. उसके बाद राहुल ने सेंचुरी लगा दी. गेल ने सात छक्के और तीन चौके लगाए वहीं राहुल ने भी छह छक्के और सात चौके लगाए. राहुल ने अंतिम ओवरों में तेज बल्लेबाजी की थी. 

गेंदबाजी नहीं फील्डिंग में रही गड़बड़
यह पूछे जाने पर कि क्या उनकी गेंदबाजी और बेहतर प्रदर्शन कर सकती थी? अश्विन ने कहा, "अंकित राजूपत की उंगलियों में चोट लगी थी और उनका पावरप्ले में तीन ओवर करना हमारे लिए बोनस साबित हुआ. हमने फील्डिंग में निरंतरता नहीं दिखाई, शायद हम और बेहतर कर सकते थे और मैच जीत सकते थे. मैं समझता हूं कि हमने मैच जीतने के लिए पर्याप्त रन बनाए थे."

यह भी पढ़ें: चेन्नई में मिली सभी मैचों में जीत, फिर भी इस वजह से नाखुश हैं कप्तान एमएस धोनी

क्या रही फील्डिंग में समस्या
शुरुआती ओवर में सूर्यकुमार यादव का और क्विंटन डिकॉक के कैच छूटना पंजाब की फिल्डिंग की सबसे बड़ी खामी रही. सूर्य कुमार यादव जब 5 रन के निजी स्कोर पर खेल रहे थे. तब अंकित राजपूत की गेंद पर मिलर ने सूर्य कुमार यादव को छोड़ दिया. इसके अगले ओवर (7वें) में केएल राहुल ने विल्जियोन की गेंद पर क्विंटन डिकॉक को 16 रन के निजी स्कोर पर कैच छोड़ा. इसके बाद भी मोहम्मद शमी ने बढ़िया गेंदबाजी की. 

(इनपुट आईएएनएस)