चैंपियंस ट्रॉफीः रोहित शर्मा की इस शानदार पारी के पीछे छिपा है 2 साल पुराना ये 'जख्म'

चैंपियंस ट्रॉफीः रोहित शर्मा की इस शानदार पारी के पीछे छिपा है 2 साल पुराना ये 'जख्म'
चैंपियंस ट्रॉफी के सेमीफाइनल में रोहित ने मुस्तफिजुर रहमान से लिया 2 साल पुराना बदला (फोटो- ट्विटर ICC)

नई दिल्लीः भारत और बांग्लादेश के बीच बर्मिंघम में गुरुवार को खेले गए चैंपियसं ट्रॉफी के सेमीफाइनल मुकाबले में टीम इंडिया की जीत के हीरो रहे रोहित शर्मा की बेहतरीन पारी के पीछे दो साल पुराना एक राज छिपा है. ये राज है बदले का...और बदला है साल 2015 में बांग्लादेश में खेली गई सीरीज में मिली हार का. दरअसल साल 2015 में जिस बांग्लादेशी गेंदबाज ने टीम इंडिया को ये घाव दिया था, इस बार टीम इंडिया ने उसकी जमकर धुनाई कर दी. हम यहां बात कर रहे हैं बांग्लादेश के तेज गेंदबाज मुस्तफिजुर रहमान की जिनके 6 ओवरों में आज भारत ने 53 रन जड़ डाले. इस दौरान रहमान को एक भी विकेट तक नसीब नहीं हुआ और वो सबसे फ्लॉप गेंदबाज बने.

चैंपियंस ट्रॉफी 2017: क्या फाइनल में रोहित तोड़ सकते हैं शिखर धवन का ये रिकॉर्ड ?

2015 में भारत के खिलाफ सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज की सबसे ज्यादा धुनाई 

आपको बता दें कि जून 2015 में भारत और बांग्लादेश के बीच खेली गई इस सीरीज में बांग्लादेश ने टीम इंडिया को बुरी तरह हराया था. तीन वनडे मैचों की इस सीरीज में भारत केवल एक मैच जीता था. इस सीरीज का पहला मैच 18 जून को मीरपुर में खेला गया. इस मैच में भारत 79 रनों से हारा था. वहीं दूसरे मैच में भारत को बांग्लादेश ने 6 विकेट से मात दी. वहीं तीसरे मैच में टीम इंडिया ने 77 रन से जीत दर्ज कर अपनी लाज बचाई. सीरीज बांग्लादेश ने जीती और उस जीत के हीरो रहे मुस्तफिजुर रहमान. वो उनके करियर की पहली वनडे सीरीज थी. सीरीज के पहले मैच में मुस्तफिजुर ने 5 विकेट लिए थे, दूसरे मैच में 6 विकेट लिए थे जबकि अंतिम मैच में दो विकेट लिए थे. यानी तीन मैचों में 13 विकेट के साथ उन्होंने टीम इंडिया को पस्त कर दिया था.

चैंपियंस ट्रॉफीः सेमीफाइनल में भी गरजे 'गब्बर', 'दादा' का रिकॉर्ड तोड़ पहुंचे इस शिखर पर

रोहित ने कैसे लिया बदला

रोहित शर्मा ने बांग्लादेश के खिलाफ सेमीफाइनल में नाबाद 123 रनों की पारी खेली और टीम इंडिया को फाइनल में जगह दिलाकर ही पवेलियन लौटे. अपनी इस पारी के दौरान रोहित ने मुस्तफिजुर की 20 गेंदों पर 24 रन बनाए जबकि कप्तान विराट कोहली ने उनकी 11 गेंदों पर 20 रन बनाए. रोहित ने मुस्तफिजुर को निशाना क्यों बनाया और उनका गुस्सा सबसे ज्यादा क्यों था, इसकी वजह ये थी कि 2015 की उस वनडे सीरीज के तीनों मुकाबलों में रोहित को इसी गेंदबाज ने आउट किया था. उस सीरीज के पहले मैच में मुस्तफिजुर ने रोहित को 63 रन पर आउट किया था, दूसरे मैच में शून्य पर आउट किया था जबकि तीसरे मैच में 29 रन पर पवेलियन का रास्ता दिखा दिया था। उसके बाद से अब तक बांग्लादेश की टीम का सामना रोहित से एक बार भी नहीं हुआ था, गुरुवार को दो साल बाद जब हुआ, तो रोहित ने सारी कसर निकाल दी.