booker prize

भारतीय मूल के ब्रितानी लेखक संजीव सहोता की किताब ‘चाइना रूम’ बुकर पुरस्कार के दावेदारों में शामिल

बुकर पुरस्कार के चयनमंडल ने कहा कि ’चाइना रूम’ ने दो काल और दो महाद्वीपों को एक साथ बुनते हुए प्रवासी लोगों के तजुर्बे पर मुबनी कहानी के एक शानदार मोड़ के साथ हमें मुतासिर किया है.

Jul 27, 2021, 04:10 PM IST

इस स्कॉटिश-अमेरिकन लेखक ने अपने डेब्यू नॉवेल के लिए जीता साल 2020 का बुकर पुरस्कार

दुबई में बसी भारतीय मूल की लेखिका अवनी दोशी का पहला उपन्यास ‘बर्नंट शुगर’ भी इस श्रेणी में नामित था. कुल 6 लोगों के उपन्यास इसमें नॉमिनेटेड थे.

Nov 20, 2020, 10:28 AM IST

भारतीय मूल की लेखिका अवनि की पुस्तक बुकर पुरस्कार के काफी नजदीक

दुबई में रह रही भारतीय मूल की लेखिका अवनि दोशी की किताब ‘बर्न्ट शुगर’ को बुकर पुरस्कार मिलेगा या नहीं इस पर फैसला गुरुवार की शाम होना है. 

Nov 19, 2020, 10:59 PM IST

बुकर पुरस्कार की रेस में भारतीय मूल की लेखिका अवनि दोशी का भी नाम

दुबई में रहने वाली भारतीय मूल की लेखिका अवनि दोशी का नाम 2020 के बुकर पुरस्कार की दौड़ में शामिल अंतिम छह लोगों की सूची में शामिल है. उनको अपने पहले उपन्यास ‘बर्न्ट शुगर’ के लिये यह पुरस्कार मिल सकता है. 

Sep 15, 2020, 11:29 PM IST

मार्गरेट एटवुड और बर्नांडीन एवारिस्‍टो को संयुक्‍त रूप से मिला बुकर पुरस्‍कार

साहित्‍य के जगत में प्रतिष्ठित बुकर पुरस्‍कार की घोषणा हो गई है.

Oct 15, 2019, 08:13 AM IST

अच्छा लेखन हमें सवाल करने के साथ समाज की छुपी परतों को खोलना सिखाता है: बेन ओकरी

बेन ओकरी को उनके उपन्यास ‘ द फेमिस्ड रोड’ के लिए बुकर पुरस्कार से नवाजा गया था. इस पुरस्कार को जीतने वाले वह अफ्रीका के पहले अश्वेत लेखक हैं. 

Feb 1, 2019, 10:45 PM IST

जार्ज सॉन्डर्स को 'लिंकन इन द बाडरे' के लिए मिला 2017 का मैन बुकर पुरस्कार

लघु कथाओं के प्रसिद्ध अमेरिकी लेखक जार्ज सॉन्डर्स को 'लिंकन इन द बाडरे' के लिए फिक्शन श्रेणी में वर्ष 2017 के मैन बुकर पुरस्कार से नवाजा गया है.

Oct 19, 2017, 12:40 AM IST

मैन बुकर पुरस्कार 2017 की शॉर्ट लिस्ट में अरुंधति रॉय का नाम नहीं

अपनी पहली किताब 'द गॉड ऑफ स्मॉल थिंग्स' के लिए 1997 में 50,000 पाउंड का यह प्रतिष्ठित साहित्यिक पुरस्कार हासिल करने वाली रॉय का नाम पुरस्कार के लिए तैयार की गई लेखकों की शुरुआती सूची में था. 

Sep 13, 2017, 06:19 PM IST

जमैइकन लेखक मालरेन जेम्स को मिला 2015 का बुकर पुरस्कार

जमैइकन लेखक मालरेन जेम्स को उनकी किताब ‘ए ब्रीफ हिस्ट्री ऑफ सेवन किलिंग्स ’ के लिए वर्ष 2015 का प्रतिष्ठित मैन बुकर पुरस्कार प्रदान किया गया है। इस प्रकार उन्होंने जमैका के साहित्यिक इतिहास में पहली बार यह पुरस्कार जीत कर इतिहास रच दिया है। जेम्स को मंगलवार रात लंदन के गिल्डहाल में आयोजित एक समारोह में पुरस्कार प्रदान किया गया। उन्होंने ब्रिटिश- भारतीय लेखक संजीव सहोता की ‘द ईयर आफ रनवे’ और चार अन्य अंतरराष्ट्रीय दावेदारों को पीछे छोड़ते हुए यह पुरस्कार जीता है।

Oct 14, 2015, 12:26 PM IST

झुंपा लाहिड़ी को नहीं, न्यूजीलैंड की एलेनोर कैटन को मिला बुकर पुरस्कार

भारतीय मूल की अमेरिकी उपन्यासकार झुंपा लाहिड़ी, मैन बुकर पुरस्कार की दौड़ में एलेनोर कैटन से मात खा गयी हैं।

Oct 16, 2013, 09:23 AM IST