maa chandraghanta

नवरात्रि तीसरा दिन: आज होगी मां चंद्रघंटा की पूजा, जानिए विधि..

Third Day of Navratri: मां का स्वरूप परम शांतिदायक और कल्याणकारी है. इनके मस्तक में घंटे का आकार का अर्धचंद्र है, इसी कारण से इन्हें चंद्रघंटा देवी कहा जाता है. इनके शरीर का रंग स्वर्ण के समान चमकीला है.  

Apr 15, 2021, 08:16 AM IST

Daily Panchang 15 April 2021 आज कीजिये मां चंद्रघंटा की पूजा

आज चैत्र शुक्लक्ष की तृतीय तिथि है. आज नवरात्रि का तीसरा दिन है. आज ही के दिन देवी चंद्रघंटा की पूरे विधि-विधान के साथ पूजा अर्चना की जाती है.

Apr 15, 2021, 05:30 AM IST

ChaitraNavratri तीसरा दिन | माता के भक्त Maa Chandraghanta |

ChaitraNavratri के तीसरे दिन आज माता के भक्त मां चंद्रघंटा (Maa Chandraghanta) की पूजा-अर्चना कर रहे हैं... शास्त्रों की अनुसार Navratri का तीसरा दिन भय से मुक्ति और अपार साहस प्राप्त करने का होता है...Maa Chandraghanta के दसों हाथों में अस्त्र-शस्त्र हैं और इनकी मुद्रा युद्ध की मुद्रा है... Maa Chandraghanta तंत्र साधना में मणिपुर चक्र को नियंत्रित करती हैं....मान्यता है कि शेर पर सवार मां चंद्रघंटा की पूजा करने से भक्तों के कष्ट हमेशा के लिए खत्म हो जाते हैं... इन्हें पूजने से मन को शक्ति और वीरता मिलती है.... आज भक्त मां चंद्रघंटाकी पूजा कैसे करें इसी पर चर्चा करने के लिए हमारे साथ जोधपुर से जुड़ रहे हैं पंडित रमेश त्रिवेदी..

Mar 27, 2020, 03:54 PM IST

आराधना: नवरात्र के तीसरे दिन कीजिए मां चंद्रघंटा की आराधना

आज नवरात्र की तीसरी तिथि है. यानी आज मां चंद्रघंटा की उपासना का दिन है. आज के दिन मां का ध्यान करने वालों को अदम्य साहस का वरदान मिलता है. आराधना में आज हम आपको मां के तीसरे स्वरूप के दर्शन कराएंगे और धर्म नगरी प्रयागराज स्थित मां चंद्रघंटा के दिव्य मंदिर ले चलेंगे. देखिए, आराधना...

Apr 8, 2019, 10:42 AM IST

चैत्र नवरात्रि के तीसरे दिन करें माता चंद्रघंटा की आराधना, इन मंत्रों के जाप से प्रसन्न होंगी देवी मां

मां के इन दस हाथों में ढाल, तलवार, खड्ग, त्रिशूल, धनुष, चक्र, पाश, गदा और बाणों से भरा तरकश है. मां चन्द्रघण्टा का मुखमंडल शांत, सात्विक, सौम्य, लेकिन सूर्य के समान तेज वाला है.

Apr 8, 2019, 06:00 AM IST

शारदीय नवरात्र: समस्त पाप और बाधाएं दूर करने वाली तीसरी शक्ति मां चंद्रघंटा

नवरात्रि की तृतीया को होती है देवी चंद्रघंटा की उपासना, चंद्रघंटा देवी मां भगवती का तीसरा स्वरूप है। मां के मस्तक पर घंटे के आकर का चंद्रमा सुशोभित है, इसीलिए इनका नाम चन्द्रघंटा पड़ा।

Oct 3, 2016, 08:31 PM IST