Zee Rozgar Samachar

noble prize

आज भी विज्ञान पर है जिनका 'प्रभाव', जानिए कौन थे डॉ. सीवी रमन

सर सी.वी रमन का जन्म ब्रिटिश भारत में तत्कालीन मद्रास प्रेसीडेंसी (तमिलनाडु) में 7 नवंबर 1888 को हुआ था. उनके पिता गणित और भौतिकी के प्राध्यापक थे. सीवी रमन ने तब मद्रास के प्रेसीडेन्सी कॉलेज से बीए किया और इसी कॉलेज में उन्होंने एमए में प्रवेश लिया और मुख्य विषय भौतिकी को चुना. जब विज्ञान के क्षेत्र में आगे बढ़ने की सुविधा नहीं मिलने के कारण सीवी रमन ने सरकारी नौकरी का रुख किया था

Feb 28, 2020, 12:32 PM IST

नोबेल विजेता अभिजीत बनर्जी ने भी कहा, अन्याय था NYAY

लोकसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस ने NYAY योजना की घोषणा करके मतदाताओं को लुभाने की कोशिश की थी. हालांकि जनादेश ने इसे नहीं स्वीकार किया और भाजपा को जनता का भारी समर्थन मिला. अब हाल ही में अर्थशास्त्र के भारतीय नोबेल पुरस्कार विजेता अभिजीत बनर्जी ने भी NYAY को खामियों से भरी एक योजना बताया है. 

Oct 20, 2019, 02:58 PM IST

DNA: दुनिया के सबसे बड़े पुरस्कार का विश्लेषण

डीएनए में आज देखें, दुनिया के सबसे बड़े पुरस्कार का DNA विश्लेषण। #DNA

Oct 9, 2019, 11:10 PM IST

बोस ने रखा था नोबेल पुरस्कार दिलाने वाली खोज का आधार

हाल ही में जिस हिग्स बोसोन कण की खोज करने वाले वैज्ञानिकों को नोबेल पुरस्कार देने की घोषणा की गई है, उस कण की खोज करने में भारतीय वैज्ञानिक सत्येंद्रनाथ बोस का बहुत बड़ा योगदान है, और उन्हीं के नाम पर इसका नामकरण भी किया गया है। सत्येंद्रनाथ बोस के सबसे बड़े बेटे रतिंद्रनाथ बोस ने बुधवार को इस बात पर खुशी जाहिर की कि उनके पिता के काम ने दूसरों को प्रेरित किया और नोबेल पुरस्कार पाने में सहायक हुआ।

Oct 10, 2013, 11:06 AM IST