close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ram manohar lohia

योगी ने दिया लोहिया की भविष्यवाणी का हवाला, कहा- 25 वर्षों तक PM रहेंगे नरेंद्र मोदी

योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गरीबों को केंद्र में रखकर उनके लिए शौचालय और ईंधन उपलब्ध कराने की योजनाएं बनाई हैं. 

मई 15, 2019, 05:16 PM IST

चुनावनामा: जब लोहिया ने दी नेहरू को चुनौती और फिर...

लोकसभा चुनाव 2019 (Lok sabha elections 2019) को लेकर सरगर्मियां बेहद तेज हो चुकी है. इन सरगर्मियों के बीच आपको 1962 के लोकसभा चुनाव में ले चलते हैं और बबाते है कि फूलपुर की धरती पर किस तरह लोहिया और नेहरू के बीच टकराव हुआ.

Apr 2, 2019, 04:24 PM IST

2019 के सियासी घमासान में अब ये कौन नया आया मैदान में ?

समाजवादी चिंतक और गैर कांग्रेसवाद के जनक राम मनोहर लोहिया के जन्मदिन पर पीएम मोदी ने समाजवादी पार्टी पर निशाना साधा है.पीएम मोदी ने ब्लॉग लिखकर समाजवादी विचारधारा वाले दलों के कांग्रेस से गठबंधन पर वार करते हुए लिखा कि जिस गैर-कांग्रेसवाद के लिए लोहिया जीवन भर लड़ते रहे, उसके साथ ही उन्होंने महामिलावटी गठबंधन कर लिया है.

Mar 23, 2019, 06:21 PM IST

राम मनोहर लोहिया पर PM मोदी का ब्लॉग- कांग्रेस, SP और महागठबंधन पर साधा निशाना

प्रधानमंत्रो मोदी ने अपने ब्लॉग में लिखा, जब भारत छोड़ो आंदोलन के दौरान देश के शीर्ष नेताओं को गिरफ्तार कर लिया गया था, तब युवा लोहिया ने आंदोलन की कमान संभाली और डटे रहे.

Mar 23, 2019, 10:32 AM IST

आम चुनाव: जब चुनाव में पंडित नेहरू को डॉ राम मनोहर लोहिया ने टक्कर दी

साल 1962 में आज़ाद हुए लगभग 15 साल हो चुके थे. देश तीसरे आम चुनाव की तैयारी में था. 1962 का चुनाव कई लिहाज़ से खास था. पहले चुनाव के बाद इस बार चुनावी प्रक्रिया में भी कुछ बदलाव आए. ये देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू का आखिरी चुनाव था. इस चुनाव में पंडित नेहरू को टक्कर देने के लिए डॉ राम मनोहर लोहिया ने फूलपुर से चुनाव लड़ने का फैसला किया. पंडित नेहरू ने पिछले दोनों चुनाव फूलपुर लोकसभा सीट से जीते थे. कई लोगों ने डॉक्टर लोहिया को फूलपुर से चुनाव न लड़ने की सलाह दी. डॉ. राममनोहर लोहिया ने एक भाषण में कहा था “मैं कांग्रेस की सबसे मजबूत चट्टान से टकरा रहा हूं. मैं इसे तोड़ तो नहीं पाऊंगा लेकिन इसमें दरार जरूर डाल दूंगा.”... देखिए, कहानी तीसरे आम चुनाव की

Feb 11, 2019, 12:07 PM IST

जानें, भारत के तीसरे आम चुनाव की पूरी कहानी

साल 1962 आज़ाद हुए लगभग 15 साल हो चुके थे. देश तीसरे आम चुनाव की तैयारी में था.1962 का चुनाव कई लिहाज़ से खास था. पहले चुनाव के बाद इस बार चुनावी प्रक्रिया में भी कुछ बदलाव आए. ये देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू का आखिरी चुनाव था. इस चुनाव में पंडित नेहरू को टक्कर देने के लिए डॉ राम मनोहर लोहिया ने फूलपुर से चुनाव लड़ने का फैसला किया.

Feb 9, 2019, 03:28 PM IST

अखिलेश यादव बोले, 'आंबेडकर और लोहिया के सपनों को पूरा करने का मिला है मौका'

अखिलेश ने स्वाधीनता दिवस पर अपने संदेश में कहा कि देश का भविष्य आर्थिक समानता, सामाजिक न्याय और एकता से ही मजबूत बनाया जा सकता है.

Aug 15, 2018, 06:17 PM IST

लोहिया ने ग्वालियर की महारानी के खिलाफ सफाईकर्मी को लड़ाया था चुनाव : राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने समाजवादी चिंतक डॉ. राम मनोहर लोहिया को सच्चा समाज सुधारक करार देते हुए कहा कि वह देश की पीड़ित और शोषित जनता के लिए सदैव संघर्ष करते रहे.

Feb 11, 2018, 10:29 PM IST

नीतीश के बाद यूपीए के मंत्रियों की भी मांग, 'अटल जी' को मिले भारत रत्न

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को ‘भारत रत्न’ से सम्मानित करने की मांग तेज हो गई है और सोमवार को भाजपा के पूर्व सहयोगी दल जदयू के नेता तथा बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और केंद्रीय मंत्री फारूक अब्दुल्ला ने भाजपा की इस मांग का समर्थन किया।

Nov 18, 2013, 03:30 PM IST