Haiti के राष्ट्रपति Jovenel Moise की घर में घुसकर हत्या, अंतरिम प्रधानमंत्री ने की पुष्टि

हैती के राष्ट्रपति जोवेनेल मोइसे (Jovenel Moise) की मंगलवार देर रात कुछ अज्ञात लोगों ने घर में घुसकर हत्या कर दी. हैती के अंतरित प्रधानमंत्री क्लॉड जोसेफ ने इसकी जानकारी बुधवार को दी.

Haiti के राष्ट्रपति  Jovenel Moise की घर में घुसकर हत्या, अंतरिम प्रधानमंत्री ने की पुष्टि
हैती के राष्ट्रपति जोवेनेल मोइसे (फाइल फोटो).

पोर्ट औ प्रिंस: हैती (Haiti) के राष्ट्रपति जोवेनेल मोइसे (Jovenel Moise) के निजी आवास में लोगों की भीड़ ने हमला कर उनकी हत्या कर दी. देश के अंतरिम प्रधानमंत्री क्लॉड जोसेफ (Claude Joseph) ने बुधवार को एक बयान जारी कर इसकी पुष्टि की. उन्होंने बताया कि प्रथम महिला मार्टिनी मोइसे भी इस हमले में घायल हो गईं हैं, जिसके बाद उन्हें अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है.

देश में तनाव का माहौल

पीएम जोसेफ ने इस घृणित, अमानवीय एवं नृशंस हरकत की निंदा करते हुए कहा कि, 'हैती की नेशनल पुलिस और अन्य अधिकारियों ने कैरेबियाई देश में स्थिति पर नियंत्रण बनाया हुआ है. मंगलवार देर रात यह हत्या देश में गहराते राजनीतिक एवं आर्थिक स्थिरता के संकट तथा गिरोह हिंसा बढ़ जाने के बीच हुई.' इसके बाद से ही 1.1 करोड़ से अधिक आबादी वाले देश में मोइसे के शासन में निरंतर अस्थिरता एवं गुस्सा बढ़ रहा था. 

VIDEO

ये भी पढ़ें:- मोदी 2.0 का पहला कैबिनेट विस्तार, कुछ की हुई छुट्टी तो कुछ का बढ़ा कद

राजधानी में बढ़ रहीं हिंसक घटनाएं

इसकी आर्थिक, राजनीतिक एवं सामाजिक समस्याएं बढ़ती जा रही थी. जहां राजधानी पोर्ट औ प्रिंस में गिरोहों की हिंसा लगातार बढ़ रही थी. महंगाई थम नहीं रही थी, और भोजन एवं ईंधन की ऐसे वक्त में कमी होती जा रही थी. जब देश की 60 प्रतिशत आबादी दो डॉलर प्रतिदिन से भी कम कमा रही थी. ये समस्याएं उसके सामने तब आ रही हैं जब हैती 2010 के विनाशकारी भूकंप और 2016 में आए तू‍फान ‘मैथ्यू’ के असर से अब भी उबरने की कोशिश कर रहा है.

ये भी पढ़ें:- 30 सेकंड के अंदर महिला को लगाई कोरोना वैक्सीन की दो डोज, जानें फिर क्या हुआ

राष्ट्रपति मोइसे से क्यों नाराज थे लोग

मोइसे (53) देश में चुनाव न हो पाने और संसद भंग होने के कारण दो साल से ज्यादा वक्त से आदलती हुक्म के आधार पर शासन कर रहे थे. विपक्षी नेताओं ने उनपर अपनी ताकत बढ़ाने का आरोप लगाया था, जिसमें सरकारी अनुबंधों का ऑडिट करने वाली अदालतों की शक्ति को सीमित करना तथा ऐसी खुफिया एजेंसी बनाना था जो सिर्फ राष्ट्रपति के प्रति जवाबदेह थी. हाल के महीनों में विपक्षी नेताओं ने उनसे इस्तीफे की मांग की थी. उनका कहना था कि मोइसे का कार्यकाल कानूनी दृष्टि से 2021 में समाप्त हो गया.

LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.