भारत के बाद अब इस देश ने भी कहा, पाकिस्तान ने मेरे 27 सैनिकों की जान ले ली

ब्रिगेडियर जनरल ने कहा कि यह खुलासा हमले की तहकीकात के बाद हुआ है.

भारत के बाद अब इस देश ने भी कहा, पाकिस्तान ने मेरे 27 सैनिकों की जान ले ली
.(फाइल फोटो)

तेहरान: ईरान के रिवोल्यूशनरी गार्ड्स पर पिछले हफ्ते फिदायीन हमला करने वाला हमलावर पाकिस्तानी नागरिक था. इस हमले में 27 सैनिकों की मौत हो गई थी. बल की सिपाह समाचार एजेंसी ने गार्ड्स के जमीनी बल के कमांडर ब्रिगेडियर जनरल मोहम्मद पाकपौर के हवाले से कहा, ‘‘फिदायीन हमलावर का नाम हफीज मोहम्मद अली था और वह पाकिस्तानी था.’’ पाकिस्तानी सरहद से लगते ईरान के सिस्तान-बलूचिस्तान प्रांत में 13 फरवरी को फिदायीन हमलावर ने रिवोल्यूशनरी गार्ड्स की एक बस पर हमला कर दिया था जिसमें बल के 27 कर्मियों की मौत हो गई थी.

ब्रिगेडियर जनरल ने कहा कि यह खुलासा हमले की तहकीकात के बाद हुआ है. बस के पास फटी विस्फोटक लदी कार के मॉडल की पहचान कर ली गई थी. उन्होंने कहा, ‘‘ दो दिन पहले एक सुराग मिला.  एक महिला की पहचान हुई और उसे गिरफ्तार किया गया और इस महिला के जरिए हम अन्य तक पहुंचे. ’’

पाकपौर ने कहा कि फिदायीन हमलावर के अलावा, उसका एक संदिग्ध साथी भी पाकिस्तानी था. उन्होंने कहा कि इस हमले को 11 फरवरी को अंजाम देना था जिस दिन ईरान की इस्लामी क्रांति की 40वीं वर्षगांठ मनाई गई थी. सैन्य अधिकारी ने कहा कि मगर उस दिन सुरक्षा बल पूरी तरह से तैयार और मुस्तैद थे. जैश-अल-अदल (इंसाफ की फौज) नाम के जिहादी संगठन ने हमले की जिम्मेदारी ली है.  इस संगठन के बारे में तेहरान का कहना है कि यह पाकिस्तान में स्थित है.