'अवैध प्रवासियों को बर्दाश्त करना दया नहीं है बल्कि यह क्रूरता है'. डोनाल्ड ट्रंप

ट्रंप ने स्टेट ऑफ यूनियन संबोधन की शुरुआत में कांग्रेस में कहा, ‘‘हमें बदले, प्रतिरोध और प्रतिशोध की राजनीति को खारिज करना होगा.

'अवैध प्रवासियों को बर्दाश्त करना दया नहीं है बल्कि यह क्रूरता है'. डोनाल्ड ट्रंप
उन्होंने कहा, ‘‘हमारी दक्षिणी सीमा पर अराजकता की स्थिति सभी अमेरिकियों की सुरक्षा और वित्तीय स्थिति के लिए खतरा है.(फाइल फोटो)

वॉशिंगटनः अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बुधवार को अपने वार्षिक स्टेट ऑफ यूनियन संबोधन में कांग्रेस के समक्ष बदले, प्रतिरोध और प्रतिशोध की राजनीति को खारिज करने का आह्वान किया और साथ ही अमेरिका-मैक्सिको सीमा पर दीवार बनाने पर जोर दिया. सुलह के लिए उनकी अपील पर डेमोक्रेट्स ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी. विपक्ष ट्रंप के एजेंडे का कड़ा विरोध करता है और उन पर सर्वदलीय सहयोग को खारिज करने में जल्दबाजी दिखाने का आरोप लगाया.

स्टेट ऑफ यूनियन संबोधन में डोनाल्ड ट्रंप ने अमेरिका-मैक्सिको सीमा पर दीवार बनाने का किया वादा

राष्ट्रपति और डेमोक्रेट सांसदों के बीच सीमा पर दीवार बनाने के विवादित प्रस्ताव को लेकर रिकॉर्ड 35 दिन तक गतिरोध चला. गतिरोध की वजह से सरकार का कामकाज आंशिक रूप से बंद हो गया था. इस कारण ट्रंप का संबोधन भी स्थगित करना पड़ा. यह संबोधन पहले 29 जनवरी को होना था. गतिरोध के दौरान डेमोक्रेटिक पार्टी का नेतृत्व सदन की अध्यक्ष नैन्सी पेलोसी कर रही थीं.

H-1B वीजा के नियमों में बदलाव, ट्रंप ने विदेशी प्रोफेशनल्स को दिया बड़ा मौका

ट्रंप ने स्टेट ऑफ यूनियन संबोधन की शुरुआत में कांग्रेस में कहा, ‘‘हमें बदले, प्रतिरोध और प्रतिशोध की राजनीति को खारिज करना होगा.’’ उन्होंने दावा किया कि वह अपने संबोधन में अमेरिका का एजेंडा पेश कर रहे हैं. राष्ट्रपति ने कहा, ‘‘अमेरिका में आर्थिक चमत्कार हो रहा है और जो चीज इसे रोक सकती है वह है बेवकूफाना युद्ध, राजनीति या हास्यास्पद पक्षपातपूर्ण जांच.’’ उन्होंने कहा कि अवैध प्रवासियों को बर्दाश्त करना दया नहीं है बल्कि यह क्रूरता है.

ट्रंप को टक्कर देने के लिए तैयार तुलसी गबार्ड ने डंके की चोट पर कहा, मुझे गर्व है, मैं हिंदू हूं

उन्होंने कहा, ‘‘हमारी दक्षिणी सीमा पर अराजकता की स्थिति सभी अमेरिकियों की सुरक्षा और वित्तीय स्थिति के लिए खतरा है. अपने नागरिकों की जिंदगियों और नौकरियों की रक्षा करने वाली एक आव्रजन प्रणाली बनाना हमारा नैतिक कर्तव्य है.’’ ट्रंप ने कहा, ‘‘इसमें आज यहां रह रहे लाखों प्रवासियों के लिए हमारा कर्तव्य शामिल है जो हमारे नियमों का पालन करते हैं और कानूनों का सम्मान करते हैं. वैध प्रवासियों से अनगिनत तरीकों से हमारा राष्ट्र समृद्ध बनता है और हमारा समाज मजबूत होता है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘अब दुनिया को यह दिखाने का समय है कि अमेरिका अवैध प्रवासियों, ड्रग तस्कर और मानव तस्करों को रोकने के लिए प्रतिबद्ध है.’’ 

(इनपुट भाषा)