close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कुवैत ने 22 भारतीय कैदियों को छोड़ा, 97 अन्य की सजा में कटौती

बयान में बताया गया कि कुवैत के अमीर ने 18 भारतीयों की सजा को तीन चौथाई घटाने, 25 लोगों की सजा की अवधि को आधा करने और एक व्यक्ति की सजा को एक चौथाई घटाने का आदेश दिया है.

कुवैत ने 22 भारतीय कैदियों को छोड़ा, 97 अन्य की सजा में कटौती
कुवैत द्वारा जारी सूची में 119 भारतीयों के नाम शामिल हैं. (फाइल फोटो)

दुबई: कुवैत ने देश के विभिन्न कारागारों में कैद 22 भारतीय कैदियों को छोड़ दिया और 97 अन्य की सजा कम कर दी. भारतीय अधिकारियों के मुताबिक अमीर द्वारा उनकी सजा कम करने के बाद यह फैसला लिया गया है. इस सूची में 119 भारतीयों के नाम शामिल हैं. इसमें उन 15 भारतीय कैदियों के नाम भी हैं जिनकी मौत की सजा को हाल ही में कम कर के आजीवन कारावास में बदल दिया गया है. कुवैत में भारतीय दूतावास ने एक बयान जारी कर कहा कि कुवैत के अमीर ने 22 भारतीय कैदियों को तत्काल छोड़ने को कहा है. उसमें कहा गया कि 53 भारतीयों की सजा को उम्र कैद से कम कर के 20 साल की सजा में बदल दिया गया है.

बयान में बताया गया कि कुवैत के अमीर ने 18 भारतीयों की सजा को तीन चौथाई घटाने, 25 लोगों की सजा की अवधि को आधा करने और एक व्यक्ति की सजा को एक चौथाई घटाने का आदेश दिया है. ज्यादातर मामलों में इन दोषियों पर नशीली दवाओं, मादक पदार्थों का व्यापार या उपभोग करने, चोरी, लूट-पाट और जालसाजी समेत अन्य आरोप लगाए गए हैं. बयान में बताया गया कि 15 कैदी जिनकी मौत की सजा को उम्र कैद में बदला गया है वह सभी मादक पदार्थ से संबंधित मामलों में दोषी पाए गए थे.

भारतीय मिशन ने कहा कि उनके छूटने या सजा की मियाद पूरी होने पर उन्हें हर प्रकार की संभावित सहायता पहुंचाई जाएगी. शनिवार (30 सितंबर) को विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कुवैत की जेलों में कैद भारतीय नागरिकों की सजा को कम करने के लिए कुवैत के अमीर का धन्यवाद किया था. कुवैत भारत का एक महत्वपूर्ण व्यापार सहयोगी रहा है. साथ ही वह वर्ष 2016-17 में भारत को कच्चे तेल की आपूर्ति करने वाला सातवां सबसे बड़ा देश है. तेल से संपन्न कुवैत में नौ लाख भारतीय निवास करते हैं.