Lebanon की माली हालत पतली, सबसे धनी आदमी Najib Mikati को PM बनाने का लिया गया फैसला

लेबनान की आर्थिक स्थिति बहुत खराब हो चुकी है, जिसे सुधारने के लिए वहां की सरकार ने सबसे धनी आदमी नजीब मिकाती को देश का नया प्रधानमंत्री बनने का फैसला किया है. आज उनकी नियुक्ति की जा सकती है.

Lebanon की माली हालत पतली, सबसे धनी आदमी Najib Mikati को PM बनाने का लिया गया फैसला
नजीब मिकाती (फाइल फोटो).

बेरूत: लेबनान (Lebanon) के राष्ट्रपति सोमवार को अरबपति व्यवसायी और पूर्व प्रधानमंत्री नजीब मिकाती (Najib Mikati) को देश का अगला प्रधानमंत्री (PM) नामित कर सकते हैं. देश में अभूतपूर्व वित्तीय संकट (Financial Crisis) के बीच वर्तमान पीएम साद हरीरी (Saad Hariri) के इस महीने की शुरुआत में मंत्रिपरिषद गठन के प्रयास को छोड़ने के बाद राष्ट्रपति ने यह कदम उठाया है.

आज हो सकती है नियुक्ति

राष्ट्रपति माइकल आउन और लेबनान के सांसदों के बीच विचार-विमर्श के बाद नजीब मिकाती की आज नियुक्ति हो सकती है. लेबनान के सबसे धनी व्यक्ति मिकाती इस पद के लिए तब सबकी पसंद बन गए, जब देश के अधिकतर राजनीतिक दलों और ईरान (Iran) के समर्थन वाले हिजबुल्लाह समूह (Hezbollah Group) ने उनका समर्थन किया. मिकाती का समर्थन हरीरी ने भी किया, जिन्होंने कैबिनेट बनाने पर आउन के साथ सहमत नहीं होने के बाद सरकार बनाने के प्रयास छोड़ दिए.

ये भी पढ़ें:- ऐसी 'जेल' जहां कैदी बनने पर परोसी जाती है शराब, खेलना होता है स्मगलिंग का गेम

जल्द संभाल सकते हैं PM का पदभार

गौरतलब है कि संवैधानिक अधिकारों को लेकर आउन और हरीरी के बीच राजनीतिक गतिरोध के कारण पहले से ही खराब चल रहे आर्थिक एवं वित्तीय संकट और गहरा गए हैं. हालांकि अभी तक यह स्पष्ट नहीं है कि मिकाती नई सरकार गठन को लेकर वर्षों से चल रहे गतिरोध को तोड़ पाएंगे अथवा नहीं. लेकिन जल्द ही उनके प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने और पदभार संभालने की चर्चाएं तेज हो गई हैं. लोगों का कहना है कि उनके पद संभालने से आर्थिक संकट से मुक्ति मिल सकती है.

ये भी पढ़ें:- मंगलवार से चमक जाएगा इन राशि वालों का भाग्य, मिलेगा हर परेशानी से छुटकारा

लेबनान की आर्थिक स्थिति बेहाल

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, वर्ल्ड बैंक (World Bank) ने लेबनान के संकट को आधुनिक इतिहास के सबसे बुरे अवसादों में से एक बताया है. देश की मुद्रा अपने मूल्य का 90 फीसदी से ज्यादा गंवा चुकी है और आधी से अधिक आबादी गरीबी की मार झेल रही है. वहीं देश में ईंधन की कमी के कारण लोगों में गुस्सा है, जिसके चलते आए दिन पेट्रोल स्टेशनों पर लड़ाई की खबरें सामने आती रहती हैं. डिआब ने देश में अशांति फैलने की आशंका जाहिर की है.

(इनपुट: भाषा से भी) 

VIDEO

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.