ओमान ने अमेरिकी सेना को बंदरगाह इस्तेमाल करने की दी इजाजत

अमेरिकी के पोतों और विमानों को सल्तनत के कुछ बंदरगाहों और हवाई अड्डों पर सुविधाओं का लाभ लेने की इजाजत मिली है.

ओमान ने अमेरिकी सेना को बंदरगाह इस्तेमाल करने की दी इजाजत
ओमान अमेरिका के साथ सैन्य रिश्तों को मजबूत करना चाहता है. (प्रतीकात्मक फोटो)

मस्कत: ओमान ने रविवार को कहा कि उसने अमेरिका के साथ एक समझौता कर उसके पोतों और लड़ाकू विमानों को अपने बंदरगाहों और हवाई अड्डों का इस्तेमाल करने की इजाजत दे दी है. सरकारी ओमान समाचार एजेंसी ने बताया कि समझौते की रूपरेखा का मकसद ओमान और अमेरिका के बीच सैन्य रिश्तों को मजबूत करना है.

एजेंसी ने कहा कि यह समझौता अमेरिकी के पोतों और विमानों को सल्तनत के कुछ बंदरगाहों और हवाई अड्डों पर सुविधाओं का लाभ लेने की इजाजत देता है. इनमें खासतौर पर दक्कम बंदरगाह शामिल है.

आपको बता दें कि दक्कम बंदरगाह दक्षिणी ओमान में अरब सागर में स्थित है जो होर्मुज जलडमरू मध्य (स्ट्रेट ऑफ होर्मुज) से करीब 500 किलोमीटर दूर है. यह जलडमरू मध्य दुनिया भर में ऊर्जा की आपूर्ति के लिए अहम है. शिया बहुल ईरान सुन्नी शासित खाड़ी मुल्कों के साथ तनाव के कारण अक्सर इस जलडमरू मध्य पर नाकेबंदी की धमकी देता है. 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.