नेतन्‍याहू के भारत दौरे से कुढ़ा पाकिस्‍तान, कहा- 'हम दोनों देशों से मुकाबला कर सकते हैं'

इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्‍याहू के भारत दौरे पर पाकिस्‍तान कड़ी निगाह बनाए हुए हैं. भारत के साथ इजरायल के समझौतों और गहरी दोस्‍ती से पाकिस्‍तान की कुढ़न बुधवार को उस वक्‍त साफ जाहिर हो गई, जब पाकिस्‍तान के विदेश मंत्री ख्‍वाजा आसिफ ने कहा कि भारत और इस्राइल के बीच गठजोड़ के बावजूद पाकिस्तान खुद का बचाव कर सकता है.

नेतन्‍याहू के भारत दौरे से कुढ़ा पाकिस्‍तान, कहा- 'हम दोनों देशों से मुकाबला कर सकते हैं'
पाकिस्‍तान के विदेश मंत्री ख्‍वाजा आसिफ ने कहा कि भारत और इस्राइल के बीच गठजोड़ के बावजूद पाकिस्तान खुद का बचाव कर सकता है. (फाइल फोटो)

इस्‍लामाबाद/नई दिल्‍ली : इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्‍याहू के भारत दौरे पर पाकिस्‍तान कड़ी निगाह बनाए हुए हैं. भारत के साथ इजरायल के समझौतों और गहरी दोस्‍ती से पाकिस्‍तान की कुढ़न बुधवार को उस वक्‍त साफ जाहिर हो गई, जब पाकिस्‍तान के विदेश मंत्री ख्‍वाजा आसिफ ने कहा कि भारत और इस्राइल के बीच गठजोड़ के बावजूद पाकिस्तान खुद का बचाव कर सकता है.

पाकिस्‍तानी टेलीविजन जियो टीवी से एक कार्यक्रम में बातचीत करते हुए उन्‍होंने कहा कि इज़रायल एक विशाल क्षेत्र पर कब्जा कर रहा है, जोकि मुसलमानों का है. इसी तरह भारत ने कश्‍मीर में मुस्लिमों की जमीन पर कब्‍जा किया. उन्‍होंने आगे कहा कि भारत और इजराइल का उद्देश्‍य एक ही है.

पढ़ें- VIDEO : ...जब पीएम मोदी ने इजराइली पीएम नेतन्याहू को सिखाए पतंगबाजी के गुर

उन्‍होंने कहा कि पाकिस्‍तान ने कभी भी इजरायल को मान्‍यता नहीं दी. उन्‍होंने आरोप लगाते हुए कहा कि भारत-इजरायल गठजोड़ इस्लाम के साथ शत्रुता पर आधारित है. उन्‍होंने आगे कहा कि पाकिस्तानी राष्ट्र का फिलिस्तीनी लोगों के साथ भावनात्मक संबंध है, जबकि कश्मीर का मुद्दा पाकिस्तान के अस्तित्व से संबंधित है. आसिफ ने कहा कि पाकिस्‍तान के सैन्‍य बल आतंकवाद के खिलाफ पूरी तरह जंग लड़ रहे हैं और देश की सामरिक क्षमता बढ़ती है. काफी कुर्बानियों के बाद हमने आतंकवाद के खिलाफ जीत हासिल की है.

उल्‍लेखनीय है कि भारत दौरे आए इस्राइली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने मंगलवार को कहा था कि इस्लामी कट्टरवाद और इससे संबंधित आतंकवादियों का खतरा अंतरराष्ट्रीय तानेबाने को प्रभावित कर सकता है तथा इस चुनौती से निपटने के लिए भारत एवं इस्राइल के बीच अधिक मजबूत संबंधों की जरूरत है. ‘रायसीना संवाद’ के उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए नेतन्याहू ने भारत को इस्राइल का ‘स्वाभाविक मित्र एवं साझेदार’ करार दिया. उनके इस कथन पर दर्शक दीर्घा में बैठे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मुस्कराए.

नेतन्याहू ने कहा, 'नवोन्मेष के लिए किए जा रहे प्रयास को इस्लामी कट्टरवाद और इससे संबंधित आतंकवादी चुनौती दे रहे हैं. ये अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था को अशांत कर सकते हैं'. उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि एक मजबूत राष्ट्र के तौर पर उभरने के लिए आर्थिक, सैन्य और राजनीतिक ताकत विकसित करने की जरूरत है.

इसके बाद आज (बुधावर को) नेतन्याहू पीएम मोदी के साथ गुजरात का दौरे पर हैं. पीएम मोदी ने पिछले साल इस्राइल का दौरा किया था. वह इस्राइल का दौरा करने वाले पहले भारतीय प्रधानमंत्री बने.

यह भी पढ़ें: भारत-इजरायल के बीच हुए 9 समझौते, PM नेतन्याहू बोले-पीएम मोदी आप क्रांतिकारी नेता हैं

यह भी पढ़ें: दिल्ली के इस मार्ग से है इजरायल का खास रिश्ता, नेतन्याहू को साथ लेकर पहुंचे PM मोदी

यह भी पढ़ेंः VIDEO, 15 साल बाद इजरायल के PM आए भारत, रिसीव करने पहुंचे पीएम मोदी ने लगाया गले