ईरान के राष्ट्रपति रूहानी ने कहा, वार्ता की पेशकश कर ‘झूठ’ बोल रहा है अमेरिका
topStories1hindi544913

ईरान के राष्ट्रपति रूहानी ने कहा, वार्ता की पेशकश कर ‘झूठ’ बोल रहा है अमेरिका

अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन ने कहा कि वाशिंगटन ने सच्ची वार्ता के लिए दरवाजे खोले लेकिन इसके जवाब में ईरान ने गहरी चुप्पी अख्तियार कर रखी है.

ईरान के राष्ट्रपति रूहानी ने कहा, वार्ता की पेशकश कर ‘झूठ’ बोल रहा है अमेरिका

तेहरान: ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने मंगलवार को कहा कि विदेश मंत्री मोहम्मद जवाद जरीफ सहित ईरान के शीर्ष अधिकारियों के खिलाफ नए अमेरिकी प्रतिबंध दिखाते हैं कि वाशिंगटन वार्ता की पेशकश पर ‘‘झूठ’’ बोल रहा है. टेलीविजन पर सीधे प्रसारित मंत्रियों के साथ बैठक में रूहानी ने कहा, ‘‘आप विदेश मंत्री पर पाबंदी लगाते हैं और वार्ता का भी आह्वान करते है. साफ है कि आप झूठ बोल रहे हैं.’’ उनके इस बयान के पहले अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन ने कहा कि वाशिंगटन ने सच्ची वार्ता के लिए दरवाजे खोले लेकिन इसके जवाब में ईरान ने गहरी चुप्पी अख्तियार कर रखी है.

रूहानी ने सर्वोच्च नेता आयतुल्ला अली खामेनी का नाम काली सूची में डालने के औचित्य पर भी सवाल उठाए और कहा कि यह दिखाता है कि वाशिंगटन ‘भ्रमित’ है. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान के शीर्ष नेता खामेनी और शीर्ष सैन्य प्रमुखों के खिलाफ नए प्रतिबंध लगाए. अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने कहा कि वाशिंगटन के साथ वार्ता की पेशकश पर ईरान खामोश है. बोल्टन ने एक बयान में कहा, ‘‘राष्ट्रपति ने वार्ता के लिए द्वार खोले हैं. ’’ यरूशलम का दौरे पर आए बोल्टन ने कहा, ‘‘लेकिन जवाब में ईरान गहरी चुप्पी साधे है.’’ 

Trending news