close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सीरिया में बनी रहे शांति इसलिए अपने 200 सैनिकों को सीरिया में ही रखे‍गा अमेरिका

राष्ट्रपति ट्रंप और तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब इरदुगान के बीच फोन पर हुई बातचीत के बाद व्हाइट हाउस ने गुरुवार (20 फरवरी) को यह ऐलान किया. 

सीरिया में बनी रहे शांति इसलिए अपने 200 सैनिकों को सीरिया में ही रखे‍गा अमेरिका
फाइल फोटो

वाशिंगटन: अमेरिका शांति स्थापना के लिए अपने 200 सैनिकों को सीरिया में ही बनाए रखे‍गा. व्हाइट हाउस ने यह ऐलान किया है. इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सीरिया से सभी अमेरिकी सैनिकों को वापस बुलाने का आदेश दिया था. राष्ट्रपति ट्रंप और तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब इरदुगान के बीच फोन पर हुई बातचीत के बाद व्हाइट हाउस ने गुरुवार (20 फरवरी) को यह ऐलान किया. 

व्हाइट हाउस की प्रेस प्रवक्ता सारा सैंडर्स ने दोनों नेताओं के बीच बातचीत के बाद एक बयान में कहा कि करीब 200 सैनिकों का एक छोटा समूह शांति स्थापना के लिए एक समयावधि तक सीरिया में ही रहेगा. इससे पहले दिसंबर में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इराक और सीरिया में इस्लामिक स्टेट के खिलाफ जीत का ऐलान करते हुए सीरिया से तुरंत अपने 2000 से ज्यादा सैनिक वापस बुलाने का ऐलान किया था.

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने अपने स्टाफ को सीरिया से अमेरिकी सैनिकों की वापसी की प्रक्रिया को जल्द से जल्द और तेजी से पूरा करने का आदेश दिया था. उन्होंने कहा था कि अमेरिका ने इस्लामिक स्टेट को हरा दिया है. ट्रंप प्रशासन इस प्रक्रिया को पूरा करने के समय में बदलाव करता रहा है. उसका कहना है कि अप्रैल के अंत तक ज्यादातर सैनिक वापस आ जाएंगे.

आपको बता दें कि कुछ दिन पहले डोनाल्ड ट्रंप ने फरवरी के पहले हफ्ते में दावा किया है कि अगले सप्ताह तक आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) का इराक और सीरिया से पूरी तरह सफाया हो जाएगा. आइएस से मुकाबला कर रहे अमेरिकी नेतृत्व वाले वैश्विक गठबंधन ने 2018 के आखिर में एलान किया था कि यह आतंकी संगठन इराक और सीरिया के महज एक फीसद क्षेत्र तक सीमित हो गया है. लेकिन वह अफगानिस्तान, लीबिया, सिनाई और पश्चिम अफ्रीका में अपनी पकड़ बनाए हुए है.