अमेरिकी सेना ने आईएस की 1,500 से ज्यादा महिलाओं को भेजा इराक

अल-होल शिविर में आईएस के हजारों लड़ाके और महिलाएं ठहरे हुए हैं जो पहले आईएस के कब्जे में रहे पूर्वी सीरिया से भाग रहे थे

अमेरिकी सेना ने आईएस की 1,500 से ज्यादा महिलाओं को भेजा इराक
(प्रतीकात्मक फोटो)

दमिश्क: तुर्की(Turkey) और सीरिया के बीच का तनाव किसी भी देश से छुपा नही है. तुर्की की असली लड़ाई उन कुर्दों से है जोकि अपने लिए एक अलग देश कुर्दिस्तान (kurdistan) की मांग कर रहे हैं. तुर्की द्वारा उत्तरी सीरिया (Syria) में नौ अक्टूबर को हमला करने के बाद यहां स्थित अमेरिकी सेना ने इस्लामिक स्टेट (आईएस) की 1,500 से ज्यादा महिलाओं को इराक भेज दिया है. सरकारी न्यूज एजेंसी सना ने यह जानकारी दी. समाचार एजेंसी सिन्हुआ की सोमवार की रिपोर्ट के अनुसार, कुर्द लड़ाकों पर तुर्की के हमलों के साथ ही अमेरिकी सैनिक उत्तरी सीरिया से जैसे लौट रहे हैं, वहीं वे अब तक पूर्वोत्तरी प्रांत हसकाह में स्थित अल-होल शिविर से लगभग 1,500 महिलाओं को इराक (Iraq) ले गए हैं.

LIVE TV...

अल-होल शिविर में आईएस के हजारों लड़ाके और महिलाएं ठहरे हुए हैं जो पहले आईएस के कब्जे में रहे पूर्वी सीरिया से भाग रहे थे. इस शिविर को कुर्दो की अगुआई में सीरियन डेमोक्रेटिक फोर्सेस चला रहे हैं, जिन्होंने पूर्वी सीरिया में अमेरिका की अगुआई वाले गठबंधन से आईएस को कड़ी टक्कर दी.

हालांकि तुर्की ने जबसे कुर्द बलों के खिलाफ युद्ध छेड़ा है, अमेरिका ने तबसे अपना ठिकाना बदलना शुरू कर दिया है और उसके सैनिक इराक जाने लगे हैं. तुर्की इन लड़ाकों को आतंकवादी और अलगाववादी मानता है.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.