• देश में कोविड-19 से सक्रिय मरीजों की संख्या 93,322 पहुंची, जबकि संक्रमण के कुल मामले 1,90,535: स्त्रोत-PIB
  • कोरोना से ठीक होने वाले लोगों की संख्या- 91,819 जबकि अबतक 5,394 मरीजों की मौत: स्त्रोत-PIB
  • PM ने लोगों से आग्रह किया कि कोविड-19 के बीच वे अधिक सतर्क और सावधान रहें, क्योंकि अर्थव्यवस्था का एक बड़ा खंड खोल दिया गया है
  • आज से शुरू होगी 200 स्पेशल ट्रेनें, पहले दिन 1.45 लाख से भी अधिक यात्री सफर करेंगे
  • थर्मल स्क्रीनिंग के लिए यात्रियों को ट्रेन रवाना होने से 90 मिनट पहले स्टेशन पहुंचना होगा
  • एनटीए ने विभिन्न परीक्षाओं के लिए ऑनलाइन आवेदन पत्र जमा करने की अंतिम तिथियों को आगे बढ़ा दिया है
  • वाणिज्य और उद्योग मंत्री ने कोविड-19 के दौरान फार्मास्युटिकल उद्योग के योगदानों व भूमिका की सराहना की
  • अपने वाहन में अक्सर इस्तेमाल में आने वाली सतहों को नियमित रूप से साफ करें। #IndiaFightsCorona

रविवार को होना था बेटी का निकाह, लेकिन मौलाना साद की 'फरारी' के चलते 'टला'

जमातियों की जिद और लापरवाही के चलते देश में कोरोना के कहर का खतरा तेजी से बढ़ रहा है. इस बीच खास जानकारी ये मिली कि रविवार को मौलाना साद की बेटी का निकाह होने वाला था. ज़ी मीडिया की टीम ने दबिश दी तो जानकारी सामने आई कि निकाह की तारीख टल चुकी है.

रविवार को होना था बेटी का निकाह, लेकिन मौलाना साद की 'फरारी' के चलते 'टला'

नई दिल्ली: वो मौलाना जिसने अपनी नापाक करतूत से देश की जान खतरे में डाल दी, अबतक फरार है. ज़ी मीडिया रविवार को एक बार फिर मौलाना साद के पुश्तैनी घर पहुंची. हमें खबर थी कि आज यूपी के शामली में मौलाना की बेटी का निकाह होना है. जब ज़ी मीडिया की टीम वहां पहुंची तो पता चला मौलाना पर कानूनी शिकंजा कसे होने की वजह से निकाह की तारीख को आगे बढ़ा दिया गया है.

शामली में मकान मौलाना का आलीशान घर

कोरोना काल में देश का मोस्टवांटेड मौलाना साद का ये पुश्तैनी घऱ है. ज़ी मीडिया की टीम शामली के कांधला में मौलाना साद के पुश्तैनी मकान पहुंची घर पर ताला लटका मिला.

ये मकान मौलाना साद की मां के नाम है. 500 गज ज़मीन में बना हुआ है. इसके बराबर में क़रीब 5 बीघा का एक मौलाना साद का पुश्तैनी बाग भी है. रविवार को मौलाना साद की बेटी का निकाह होना था. लेकिन अब वो भी टल चुका है.

मरकज के जरिए देशभर में कोरोना का संक्रमण फैलाने वाले इस मौलाना पर कानूनी शिकंजा कसा हुआ है. हालांकि यहां रहने वाले मौलाना साद के रिश्तेदार निकाह के टलने की वजह लॉकडाउन को बता रहे हैं.

देश पर जमात का कोरोना अटैक!

दिल्ली से लेकर यूपी, तमिलनाडु जहां जहां तक तबलीगी जमात के लोग पहुंचे वहां वहां कोरोना के मामले बढ़ गए. यूपी में आधे से ज्यादा संक्रमित जमाती हैं. वहीं तमिलनाडु में भी तबलीगी जमात के लोगों ने सरकार की मुसीबत बढ़ा दी है. अब तो जमात के मुख्यालय में जाने वाले दिल्ली पुलिस के कर्मचारियों पर भी कोरोना का संकट मंडरा रहा है.

जहां-जहां तबलीगी जमात के लोग पहुंचे वहां वहां कोरोना पहुंचा. वहां वहां मुसीबत बढ़ी और ये ही वजह है कि पूरे देश में कोरोना फैलाने वाली जमात की तलाशी की जा रही है.

चार दिन में दोगुने हो रहे हैं कोरोना संक्रमित

जमातियों की वजह से देश में कोरोना तेजी से बढ़ रहा है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने एक बड़ा आंकड़ा देते हुए बताया है. किस तरह जमातियों की वजह से भारत में कोरोना का तेजी से प्रसार हो गया.

देश में कोरोना के संक्रमण के मामले पहले लगभग एक हफ्ते में दोगुने हो रहे थे. लेकिन, तबलीगी जमात की वजह से अब 4 दिन में कोरोना संक्रमित दोगुने हो रहे हैं.

जमातियों ने बढ़ाई कोरोना की मुसीबत

जिन जिन प्रदेशों में कोरोना के मामले तेजी से बढ़े हैं वहां इसके पीछे तबलीगी जामत से जुडे लोग ही हैं. देश के सबसे बड़े राज्य यूपी की बात करें तो यहां भी जमातियों ने कोरोना की मुसीबत को बढ़ा दिया है.

यूपी में जमातियों ने बढ़ाया कोरोना

यूपी में कोरोना के अब तक 276 मामले सामने आए हैं. कोरोना के आधे से ज्यादा संक्रमित जमात से जुड़े हैं. तबलीगी जमात से जुड़े 138 लोग कोरोना संक्रमित हैं. जमात से जुड़े कोरोना संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले आगरा में आए.

यूपी के कोरोना संक्रमितों में आधे जमाती 

लेकिन अब यूपी में तबलीगी जमात से जुड़े संक्रमितों की पहचान कर उन्हें आइसोलेट भी किया जा रहा है. अब तक तबलीगी जमात में गए हुए 1499 लोगों को यूपी में चिन्हित कर लिया गया है. इनमें से 1200 लोगों को कोरेंटाइन भी कर लिया गया है. बाकियों की तलाश जारी है.

इसे भी पढ़ें: बड़ा खुलासा: 'मोस्ट वांटेड' मक्कार मौलाना मोहम्मद साद का 'पहला सुराग'

वैसे तबलीगी जमात से जुड़े लोगों से कोरोना फैलने का खतरा दिल्ली पुलिस के उन जवानों को भी है. जो बार बार जमात के मुख्यालय में जाते थे और जमात के लोगों ने जिनसे थाने में आकर मुलाकात की. निजामुद्दीन थाने में पहुंचकर डॉक्टरों ने पुलिस कर्मचारियों की जांच की.

इसे भी पढ़ें: तबलीगी जमात का बड़ा सच, बिना नक्शे के ही निजामुद्दीन में बना ली सात मंजिला बिल्डिंग

इसे भी पढ़ें: कोरोना के खिलाफ जंग में भारत का 'दीप-संकल्प'! PM मोदी ने दिया 'ये' संदेश