रिकॉर्ड बताता है कि BJP अध्यक्ष पद के लिए सबसे योग्य हैं जेपी नड्डा

जगत प्रकाश (जेपी) नड्डा को भारतीय जनता पार्टी का नया अध्यक्ष चुन लिया गया है. लेकिन नड्डा के सियासी सफर को देखकर ये अंदाजा लगाया जा सकता है कि इस पद के लिए वो वाकई योग्य शख्स हैं.

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Jan 20, 2020, 03:50 PM IST
    1. भारतीय जनता पार्टी के नए राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा
    2. राधामोहन सिंह ने बीजेपी के नए अध्यक्ष के नाम की घोषणा की
    3. जगत प्रकाश नड्डा ने इस पद पर अमित शाह की जगह ली
    4. नड्डा के सामने दिल्ली और बिहार विधानसभा चुनाव की चुनौतियां
रिकॉर्ड बताता है कि BJP अध्यक्ष पद के लिए सबसे योग्य हैं जेपी नड्डा

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी का नेतृत्व करने के लिए अगले राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा (जेपी नड्डा) चुन लिए गए हैं. यानी भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा बन गए हैं. जेपी नड्डा ने आज बीजेपी अध्यक्ष के लिए नामांकन दाखिल किया. जेपी नड्डा का नामांकन सही पाया गया. बीजेपी के चुनाव अधिकारी राधामोहन सिंह ने बीजेपी के नए अध्यक्ष के नाम की औपचारिक घोषणा कर दी.

नड्डा के सामने दिल्ली और बिहार का 'चुनावी पहाड़'

जेपी नड्डा ने इस पद पर अमित शाह की जगह ली. वहीं BJP की कमान संभालने के साथ ही जेपी नड्डा के सामने दिल्ली और बिहार विधानसभा चुनाव जैसी बड़ी चुनौतियां होंगी. हालांकि भारतीय जनता पार्टी ने संगठन चुनाव की औपचारिकता पूरी करने के लिए चुनाव की अधिसूचना भी जारी की थी. लेकिन कोई भी दूसरा उम्मीदवार ना होने की वजह से नड्डा निर्विरोध राष्ट्रीय अध्यक्ष चुन लिए गए.

जेपी नड्डा के समर्थन में 21 राज्यों के प्रदेश अध्यक्ष नामांकन पत्र चुनाव अधिकारी राधा मोहन सिंह के सामने पेश किया. जिन राज्यों के प्रदेश अध्यक्षों ने नड्डा के समर्थन में नामंकन पत्र पेश किया, उसमें दिल्ली, एमपी, उत्तराखंड, बिहार, पश्चिम बंगाल, राजस्थान, महाराष्ट्र, हिमाचल जैसे राज्य शामिल रहें. बतौर राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के साढ़े 5 साल का कार्यकाल खत्म हो गया. लेकिन खास बात ये है कि नड्डा पीएम मोदी और अमित शाह के बेहद करीबी माने जाते हैं.

जगत प्रकाश नड्डा का सफर

2 दिसंबर, साल 1960 को बिहार की राजधानी पटना में जन्में जगत प्रकाश नड्डा ने पटना से ही बीए और एलएलबी पढ़ाई की और शुरू से ही वो अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) से जुड़े रहे. वो पहली बार साल 1993 में हिमाचल प्रदेश से विधायक चुने गए. उसके बाद उन्होंने राज्य और केंद्र में मंत्री पद भी संभाला. जेपी नड्डा अपने करियर की शुरुआत छात्र नेता के तौर पर की थी और वह आरएसएस के काफी सक्रिय सदस्य रहे हैं. नड्डा को राज्य और केंद्रीय संगठन में काम करने का लंबा अनुभव है.

  • जेपी नड्डा साल 1993 से 2002 तक हिमाचल प्रदेश विधानसभा के सदस्य रहे
  • वो साल 1998 से 2003 तक हिमाचल प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री भी रहे
  • 2008 से 2010 तक धूमल सरकार में वन-पर्यावरण, विज्ञान व टेक्नालॉजी विभाग के मंत्री रहे
  • साल 2012 में वो राज्यसभा के सदस्य चुने गए
  • नड्डा मोदी सरकार-1 में 2014 से 2019 तक केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय का नेतृत्व किया
  • 17 जून, 2019 को नड्डा भारतीय जनता पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष चुने गए

भारतीय जनता पार्टी को नया राष्ट्रीय अध्यक्ष मिल गया है. इस पद के लिए जेपी नड्डा को चुना गया है. नड्डा के नेतृत्व में भाजपा के आने वाले दिन कैसे होंगे ये वक्त ही बताएगा. लेकिन उनके लिए सबसे बड़ी चुनौती दिल्ली और बिहार विधानसभा चुनाव है.

इसे भी पढ़ें: भाजपा अध्यक्ष के रूप में जेपी नड्डा की ताजपोशी

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़