कूचबिहार हिंसा को दीदी ने बताया नरसंहार, चुनाव आयोग ने बदला प्रचार का नियम

बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने कूचबिहार हिंसा को नरसंहार बताया है, तो वहीं केंद्रीय चुनाव आयोग ने नियम बदलते हुए 72 घंटे पहले ही पांचवे चरण के चुनाव प्रचार को बंद करने का आदेश दिया है.

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Apr 11, 2021, 09:40 PM IST
  • चुनाव आयोग ने लगाई 72 घंटे की रोक
  • कूचबिहार हिंसा पर सियासत गरमाई
कूचबिहार हिंसा को दीदी ने बताया नरसंहार, चुनाव आयोग ने बदला प्रचार का नियम

कोलकाता: कूचबिहार में 4 लोगों की मौत पर सियासत थमती नजर नहीं आ रही है. ममता बनर्जी ने पीड़ित परिवारों से वीडियो कॉल से बात की. साथ ही अगले 72 घंटे तक कूचबिहार में किसी भी नेता के जाने पर रोक के बाद ममता ने अब 14 अप्रैल को वहां जाने का ऐलान किया है. दूसरी ओर केंद्रीय मंत्री नकवी के नेतृत्व में बीजेपी का प्रतिनिधिमंडल आज दिल्ली में चुनाव आयोग से मिला.

दीदी ने कूचबिहार हिंसा को बताया नरसंहार

बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने कूचबिहार हिंसा को नरसंहार बताया है. वीडियो कॉल के जरिए ममता बनर्जी ने पीड़ित परिवारों से बात की. सीतलकुची की घटना को ममता बनर्जी ने भयावह और पीएम मोदी को अक्षम बताया है.

कूचबिहार हिंसा को लेकर ममता बनर्जी ने चुनाव आयोग के खिलाफ बयानबाजी करते हुए कहा कि 'EC का नाम बदलकर MCC यानि मोदी Code of Conduct करना चाहिए.' बीजेपी ने कहा कि हार के डर से ममता लोगों को उकसा रही हैं.

अब 72 घंटे पहले ही बंद हो जाएगा प्रचार

पश्चिम बंगाल (West Bengal) में पांचवे चरण के चुनाव प्रचार अब 72 घंटे पहले ही बंद हो जाएगा, ऐसा चुनाव आयोग (Election Commission) ने आदेश दिया है. इसके अनुसार अब 17 अप्रैल को होने वाले मतदान का प्रचार 14 अप्रैल को शाम 6:30 पर ही रुक जाएगा.

कूचबिहार में नेताओं की 'NO ENTRY'

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी आज कूचबिहार जाने वाली थी. फायरिंग में मारे गए लोगों के परिवार से मुलाकात करने वाली थीं, लेकिन चुनाव आयोग ने कूचबिहार में नेताओं के जाने पर 72 घंटे के लिए रोक लगा दी है. चुनाव आयोग के फैसले से TMC तिलमिला उठी और चुनाव आयोग के फैसले को साजिश का नाम दे दिया.

कूचबिहार में हेलीकॉप्टर उतारने की इजाजत नहीं मिली, जिस पर सीएम ममता ने कहा कि दुनिया में कोई भी मुझे अपने लोगों का दर्द साझा करने से नहीं रोक सकता. ममता ने जलपाईगुड़ी की दोनों रैलियां भी रद्द कीं.

EC के खिलाफ TMC ने खोला मोर्चा

TMC नेताओं ने चुनाव आयोग के खिलाफ मोर्चा खोल दिया. बीजेपी से TMC में शामिल हुए नए नवेले नेता यशवंत सिन्हा ने तो चुनाव आयोग पर कीचड़ ही उछाल दिया.

उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि 'चुनाव आयोग ने ममता को कूचबिहार जाने से रोककर खुद को कीचड़ से ढक लिया है. आखिर ममता बनर्जी अभी भी बंगाल की मुख्यमंत्री हैं और इस दुर्भाग्यपूर्ण घटनास्थल पर जाना उनका कर्तव्य है. हम सब जानते हैं कि चुनाव आयोग का फ़ैसला उचित नहीं है.'

हिंसा के दौरान कुल 5 लोगों की मौत

कूचबिहार की सीतलकुची विधानसभा में हिंसा के दौरान कुल 5 लोगों की मौत हुई. ममता बनर्जी ने कूचबिहार जाने का ऐलान किया, लेकिन हिंसा की आशंका पर चुनाव आयोग ने फैसला लेते हुए. कूचबिहार जिले में नेताओं की एंट्री बैन कर दी. अगले 72 घंटे तक कूचबिहार जाने की अनुमति नहीं है. आयोग ने पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव, डीजीपी, डीएम और कूचबिहार जिले के एसपी को इस बारे में सभी जरूरी कदम उठाने का निर्देश दिया है.

उधर, तृणमूल कांग्रेस ने कूचबिहार में गोलीबारी के खिलाफ आज राज्य के सभी ब्लॉक और वार्ड में विरोध प्रदर्शन करने का ऐलान किया है. वहीं ममता बनर्जी ने फायरिंग पर CID जांच करवाने का ऐलान किया. पीएम मोदी ने भी कूचबिहार में लोगों की मौत पर दुख जताया और कहा कि कूचबिहार में जो हुआ वो बहुत दुखद है.

बंगाल बीजेपी के अध्यक्ष दिलीप घोष ने ममता बनर्जी पर आरोप लगाया कि ममता ने लोगों को सुरक्षाबलों को घेरने के लिए उकसाया था. ऐसे में सुरक्षाबलों को आत्मरक्षा में गोली चलानी पड़ी.

इसे भी पढ़ें- PM Modi ने कूचबिहार में लोगों की मौत पर जताया दुख, कहा- दीदी को जाना ही होगा

प्रचार का अंत सामान्य तौर पर 48 घंटे पहले होता है, पश्चिम बंगाल में अब पांचवें चरण का मतदान 17 अप्रैल को होना है और चुनाव आयोग की कोशिश है कि जिले में कानून व्यवस्था की स्थिति को नियंत्रण में रखा जाए. इसके लिए चुनाव आयोग ने बड़ा फैसला लेते हुए 48 घंटों की जगह चुनाव प्रचार 72 घंटे पहले बंद करने का फैसला किया है.

इसे भी पढ़ें- West Bengal Election: बंगाल में चुनाव के बीच, नुसरत जहां का सुपर बोल्ड अंदाज

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़