सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड पर भड़के दिलजीत दोसांझ, बोले- 'ये सरकार की नालायकी है'

Dijit Dosanjh comment: पंजाब में बार-बार कलाकारों पर हो रहे हमलों पर दिलजती दोसाझ ने तंज कसा है. एक्टर के मुताबिक ये सरकार की नाकामी है. ये सब हादसे गंदी राजनीति हैं.

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Dec 4, 2022, 01:50 PM IST
  • दिलजीत दोसांझ ने कसा सरकार पर तंज
  • सिद्धू मूसेवाला की हत्या को बताया साजिश

ट्रेंडिंग तस्वीरें

सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड पर भड़के दिलजीत दोसांझ, बोले- 'ये सरकार की नालायकी है'

Sidhu Moosewala Murder: दिलजीत दोसांझ ने हाल ही में सिद्धू मूसेवाला के मर्डर का इल्जाम सरकार पर लगाया है. 29 मई को सिद्धू मूसेवाला का पंजाब के मानसा में दिनदहाड़े खून कर दिया गया था. बीते दिन इस मामले में लॉरेंस बिश्नोई की रिमांड अवधि को भी अदालत ने चार दिन और बढ़ा दिया. ऐसे में दिलजीत दोसांझ ने पंजाब सरकार को 'नालायक' बताया है.

दिलजीत दोसांझ का बयान

दिलजीत दोसांझ ने एक इंटरव्यू में कहा कि उन सभी ने काफी मेहनत की थी. मुझे नहीं लगता कि कोई सिंगर कुछ गलत कर सकता है. मैं ये अपने तजुर्बे से बता सकता हूं. उसे और दूसरे लोगों के बीच कुछ नहीं हो सकता. तो कोई उसे क्यों मारेगा? ये काफी दुखद बात है.

बताई सरकार की गलती

ऐसे मे दिलजीत दोसाझ ने इसे सरकार की गलती बताया और कहते हैं कि इस बारे में बात करना बहुत मुश्किल है. जरा सोचिए एक ही बेटा और वो भी मर गया. उसके माता-पिता कैसे जी रहे होंगे. हम सोच भी नहीं सकते वो किस हालत में होंगे. ये 100 प्रतिशत सरकार की नालायकी है. ये राजनीति है और राजनीति बहुत गंदी है. भगवान से प्रार्थना करता हूं कि सभी को न्याय मिले. ऐसे हादसे ना हों.

ये राजनीति है

आखिर में दिलजीत का दिल छलका कहते हैं कि हम इस दुनिया में किसी को मरने नहीं आए हैं, लेकिन ऐसा शुरू से ही रहा है. आर्टिस्ट्स को पहले भी मारा गया है. जब मैंने अपना करियर शुरू किया था तब भी समस्याएं थीं. लोग सोचते थे कि ये कैसे सफल हो गया. ये सिर्फ सरकार की नाकामी और राजनीति है. गौरतलब है कि सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड की जांच जारी है.

ये भी पढ़ें: उर्फी जावेद ने बताया खूबसूरती का राज, फिटनेस के लिए रोजाना करती हैं ये काम

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़