नागरिकता कानून के खिलाफ यूपी को जलाने की साजिश, 57 पुलिसकर्मियों को लगी गोली

CAA के खिलाफ प्रदर्शन की आड़ में देश को जलाने की साजिश के उपद्रवियों की हिंसा लगातार सामने आ रही है. उत्तर प्रदेश में हिंसा के दौरान कुल 57 पुलिसकर्मियों को गोली लग गई इसके अलावा 263 पुलिसवाले घायल हो गए.

नागरिकता कानून के खिलाफ यूपी को जलाने की साजिश, 57 पुलिसकर्मियों को लगी गोली

नई दिल्ली: नागरिकता के नाम पर उत्तर प्रदेश में हिंसा फैलाने के दौरान 57 पुलिसकर्मियों को गोली लगी है. जिसके बाद यूपी में कुल 124 एफआईआर दर्ज की गई हैं. प्रदेश में हुई हिंसा में 263 पुलिस वाले घायल हुए हैं. प्रदेश में हुई हिंसा मे भारी पैमाने पर अवैध हथियारों का इस्तेमाल किया गया है. आपको यूपी के बेकाबू हो रहे हालात के हर एक अपडेट से रूबरू करवाते हैं.

जल रहा है उत्तर प्रदेश

  • यूपी  CAA के विरोध में हुई हिंसा में 57 पुलिसकर्मियों को लगी गोली
  • प्रदेश भर ने 124 एफआईआर हुई दर्ज
  • 705 लोग गिरफ्तार कर भेजे गए जेल
  • 4500 लोगों पर निरोधात्मक कार्रवाई की गई 
  • अब तक हुई हिंसा में 263 पुलिस वाले हुए घायल
  • हिंसा मे भारी पैमाने पर अवैध शास्त्रों का उपयोग
  • पुलिस ने 405 देसी तमंचे के खोखे किए बरामद
  • सोशल मीडिया पर 13101 पोस्ट के खिलाफ कार्रवाई
  • इसके तहत 63 FIR, 102 गिरफ्तार

405 देसी तमंचे के खोखे बरामद

मौके से पुलिस ने 405 देसी तमंचे के खोखे बरामद किए हैं. यूपी पुलिस ने सोशल मीडिया पर किए गए भड़काऊ 13 हजार 101 पोस्ट के खिलाफ भी कार्रवाई की है. सोशल मीडिया के जरिए हिंसा फैलाने वाले कुल 63 लोगों पर मुकदमा दर्ज किया गया है और 102 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. साथ ही 4500 लोगों पर निरोधात्मक कार्रवाई की गई है.

इसे भी पढ़ें: CAA की आड़ में देश को जलाने वालों की अब खैर नहीं! क्योंकि...

नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन की आड़ में हिंसा करने वालों पर यूपी पुलिस ने कार्रवाई भी तेज कर दी है. पूरे प्रदेश से 705 लोगों को पुलिस ने हिंसा फैलाने के आरोप में गिरफ्तार किया है. जबकि हिरासत में लिये गये 4500 लोगों को निजी मुचलके पर रिहा कर दिया गया है. उत्तर प्रदेश के कानपुर, राजधानी लखनऊ, संभल, रामपुर और कई अन्य शहरों में हालात बेकाबू हो गए. जिस दौरान पुलिस ने कार्रवाई की तो दंगाइयों ने पुलिस पर ही हमला कर दिया. देखते ही देखते कई पुलिसवाले गंभीर रूप से घायल हो गए.

इसे भी पढ़ें: अफवाह पर शिकंजा कसने के लिए यूपी के कई जिलों में इंटरनेट शटडाउन