प्रियंका के आरोप से सीओ दुखी, कहा -भाई की मौत के बाद भी फर्ज निभाया

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक शनिवार को ही सीओ  अर्चना सिंह को अपने चचेरे छोटे भाई की मौत की खबर मिली थी और वह उन्हें देखने के लिए जाना चाहती थीं. इसके लिए वह छुट्टी मांगने ही वाली थीं कि उन्हें प्रियंका की फ्लीट इंचार्ज के तौर पर तैनात कर दिया गया. यूपी पुलिस ने इसकी पुष्टि की है.

प्रियंका के आरोप से सीओ दुखी, कहा -भाई की मौत के बाद भी फर्ज निभाया

लखनऊः  पुलिस पर लगाए गए कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी के आरोपों से सीओ अर्चना सिंह बेहद आहत हैं. उन्होंने जिन परिस्थितियों में कांग्रेस महासचिव की सुरक्षा व्यवस्था को संभाला, यह वही जानती हैं. दरअसल ड्यूटी के दौरान उनके छोटे चचेरे भाई की मौत हो गई थी. इसकी जानकारी उन्हें मिली थी. भावनाओं पर फर्ज को ऊपर रखते हुए सीओ अर्चना सिंह ने शनिवार को कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी की सुरक्षा व्यवस्था को संभाला.

यूपी पुलिस ने की है पुष्टि
सीओ अर्चना सिंह को शनिवार को ही अपने चचेरे छोटे भाई की मौत की खबर मिली थी और वह उन्हें देखने के लिए जाना चाहती थीं. इसके लिए वह छुट्टी मांगने ही वाली थीं कि उन्हें प्रियंका की फ्लीट इंचार्ज के तौर पर तैनात कर दिया गया. भावनाओं पर फर्ज को तरजीह देते हुए अर्चना सिंह यह तय करने में जुट गईं कि किसी भी तरह से प्रियंका गांधी की सुरक्षा में कोई सेंध न लगे. यूपी पुलिस ने ट्वीट कर इसकी पुष्टि की है.

प्रियंका गांधी की ओर से लगाए गए आरोपों को प्रशासन की ओर से भी खारिज किया गया था. लखनऊ के एसपी कलानिधि नैथानी ने कहा कि सीओ अर्चना सिंह ने एडिशनल एसपी को सौंपी अपनी रिपोर्ट में प्रियंका गांधी की ओर से लगाए गए आरोपों को खारिज किया है.

भीषण ठंड से ठिठुर रहा उत्तर भारत, लेह में जमी सिंधु नदी

प्रियंका गांधी ने लगाया था ये इल्जाम
लखनऊ के दो दिवसीय दौरे पर पहुंचीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी शनिवार शाम पूर्व आईपीएस एसआर दारापुरी के घरवालों से मुलाकात करने भी गई थीं. इस दौरान कुछ देर के लिए प्रियंका के वाहन को पुलिस ने रोक लिया. प्रियंका गांधी ने लखनऊ पुलिस पर गला दबाने और धक्का देकर गिराने के गंभीर आरोप लगाए थे. दूसरी ओर, भाजपा ने इसे प्रियंका गांधी वाड्रा की नौटंकी करार दिया था. उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने इस संबंध में ट्वीट कर कांग्रेस महासचिव की आलोचना की थी.

'मेरे साथ पुलिस ने की बदसलूकी, गला दबाया, धक्का दिया'
इस दौरान प्रियंका ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा था रास्ते में पुलिस की गाड़ी अचानक आगे आई और रोक लिया. पुलिस ने कहा कि जाने नहीं देंगे. मैं उतरकर पैदल चलने लगी तो पुलिस ने घेरा बनाकर मेरा गला दबाया और धक्का देकर गिराया. मेरे साथ बदसलूकी हुई. इसके बाद मैं पार्टी के एक कार्यकर्ता के साथ स्कूटी पर बैठकर जाने लगी तो फिर पुलिस ने रोका.

लखनऊः प्रियंका ने पुलिस पर लगाया गला दबाने का आरोप, भाजपा ने कहा नौटंकी