close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सोपोर से पकड़े गए चार आतंकी, करतारपुर उद्घाटन से पहले चिंताजनक स्थिति

करतार पुर कॉरिडोर के उद्घाटन से पहले घाटी से आंतकियों का पकड़ा जाना चिंताजनक है. कॉरिडोर को लेकर पहले ही भारत ने चिंता जताई है. भारत ने कहा है कि आतंकी करतार कॉरिडोर का इस्तेमाल भारत में प्रवेश करने के लिए कर सकते हैं. गुरुवार को सोपोर से चार ओवर ग्राउंड वर्कर पकड़े गए हैं. बताया गया कि सभी हिजबुल से जुड़े हुए हैं.

सोपोर से पकड़े गए चार आतंकी, करतारपुर उद्घाटन से पहले चिंताजनक स्थिति

जम्मूः घाटी में एक बार फिर आतंकी साजिश को नाकाम किया गया है. जम्मू-कश्मीर के सोपोर में भारतीय सुरक्षाबलों को इस मामले में बड़ी कामयाबी हाथ लगी है. भारतीय सुरक्षाबलों ने बड़े हमले की साजिश रच रहे चार आतंकियों को गिरफ्तार कर लिया है. आतंकियों से लगातार पूछताछ की जा रही है. उनके नेटवर्क का पता लगाने का प्रयास किया जा रहा है. अभी तक यह नहीं पता चला सका है कि सभी चारों आतंकी भारत में किस रास्ते से दाखिल हुए थे और सोपोर में उनकी मदद कौन कर रहा था?

भारत में घुसपैठ कराने  के लिए पाकिस्तान ने तैयार  किए 500 आतंकवादी

हथियार भी हुए बरामद
खुफिया जानकारी के आधार पर यह बड़ी कार्रवाई अंजाम दी गई. भारतीय सुरक्षाबलों को खुफिया जानकारी मिली थी कि कुछ आतंकी सोपोर में छुपे हुए हैं और किसी बड़ी साजिश को अंजाम देने की फिराक में हैं. इसके आधार पर भारतीय सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके की घेराबंदी की और सोपोर के एक घर से चारों आतंकियों को गिरफ्तार कर लिया. पकड़े गए इन आतंकियों के पास से कुछ हथियार भी बरामद हुए हैं. पकड़े गए आतंकियों की पहचान रमीज अहमद मल्ला, रियाज खालिक पार्रे, वसीम मंज़ूर गाज़ी और इखलाक इम्तियाज़ शेख के रूप में की गई है. बताया जा रहा है कि चारों हिजबुल के ओवर ग्राउंड वर्कर (OGW) हैं. 

दक्षिण भारत में भी पांव फैला  रहे हैं आतंकवादी, पूरी खबर यहां पढिए

करतारपुर कॉरिडोर उद्घाटन से पहले स्थिति चिंताजनक
भारतीय सुरक्षाबल पकड़े गए आतंकियों से पूछताछ कर रहे हैं. इनके पास कई तरह के विरोधी पोस्टर भी बरामद हुए हैं. नौ नवंबर को करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन किया जाना है. करतारपुर कॉरिडोर को लेकर पहले ही भारत ने चिंता जताई है. भारत ने कहा है कि आतंकी करतार कॉरिडोर का इस्तेमाल भारत में प्रवेश करने के लिए कर सकते हैं. इसके साथ ही इस कॉरि़डोर से जुड़े एक म्यूजिक विडियो में खलिस्तानी आतंकियों को भी दिखाया गया था. इस विडियो के बाद कहा जा रहा है कि पाकिस्तान की छिपी मंशा बतौर सबूत विडियो में उजागर हो गई है. 

पाकिस्तानी  जनता  महंगाई से परेशान, लेकिन भारत से उलझने में व्यस्त हैं इमरान, यहां पढ़िए

पहले भी पकड़े गए हैं OGW
इससे पहले बुधवार को पुलिस ने तीन ओवर ग्राउंड वर्कर को हिरासत में लिया था. उनके पास भी संदिग्ध सामान बरामद हुए थे. इस तरह बुधवार-गुरुवार के 24 घंटे में आतंकी गतिविधि में लिप्त सात लोग पकड़े गए हैं. एक नवंबर को कुपवाड़ा जिले के हंदवाड़ा इलाके से लश्कर ए तैयबा के दो ओवर ग्राउंड वर्कर को सुरक्षा बलों ने गिरफ्तार किया था. इनके पास से तीन हैंड ग्रेनेड बरामद किए गए थे. इनकी पहचान हंदवाड़ा के ही जफर और तजामुल के तौर पर हुई थी. लगातार हो रही इस आतंकी गतिविधि से किसी बड़ी साजिश की आशंका है. 

मजहब  की भी परवाह नहीं करते आतंकवादी, मुसलमानों को भी बनाते हैं निशाना