CAA पर नहीं थम रहा बवाल, कर्नाटक तक पहुंची विरोध की 'आग'

नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ मचे बवाल की ज्वाला देश के कोने-कोने में पहुंच गई है. विपक्षी पार्टियां इसपर अपनी छाती पीटने से बाज नहीं आ रही हैं. कर्नाटक में विरोध प्रदर्शन को देखते हुए धारा 144 लागू है, इसके बावजूद यहां वामदलों ने प्रदर्शन किया और पुलिस से झड़प की.

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Dec 19, 2019, 01:43 PM IST
    1. नागरिकता संशोधन कानून पर देशभर में बवाल जारी
    2. कर्नाटक तक पहुंची CAA पर विरोध की आग
    3. कानून के खिलाफ प्रदर्शन को देखते हुए धारा 144 लागू
    4. बवाल के दौरान पुलिस से भिड़े वामदलों के प्रदर्शनकारी
CAA पर नहीं थम रहा बवाल, कर्नाटक तक पहुंची विरोध की 'आग'

नई दिल्ली: नागरिकता संशोधन कानून के विरोध की आड़ में देशभर में मचा बवाल रुकने का नाम नहीं ले रहा है. हर तरफ धरना-प्रदर्शन, पुलिस से झड़प और विरोध की तस्वीरें देखने को मिल रही हैं. इस बीच CAA के खिलाफ बढ़ रही आग की ज्वाला कर्नाटक तक पहुंच गई है.

कर्नाटक तक पहुंची CAA पर विरोध की ज्वाला

बैंगलुरु में नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन को देखते हुए धारा 144 लागू है. इसके बावजूद लेफ्ट कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया. जिन्हें हटाने के लिए भारी पुलिस बल मौके पर पहुंची. लेकिन प्रदर्शनकारी हटने को तैयार नहीं हुए जिसके बाद पुलिस को हल्का बल प्रयोग करना पड़ा.

पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प

कर्नाटक के कलबुर्गी में भी नागरिकता कानून के विरोध में जबरदस्त प्रदर्शन हो रहा है. भारी तादात में लोग प्रदर्शन करने पहुंचे थे. जिन्हें पुलिस ने हटाने की कोशिश की. इस दौरान प्रदर्शनकारियों और पुलिस में हल्की झड़प भी देखने को मिली.

नागरिकता पर बवाल को लेकर सरकार सख्त

नागरिकता संशोधन एक्ट के खिलाफ बेंगलुरु में आज बड़े प्रदर्शन की आशंका है, इसी के मद्देनज़र पुलिस कड़ी कर दी गई है. कर्नाटक सीएम बीएस. येदियुरप्पा ने सीनियर अधिकारियों के साथ बैठक की है. साथ ही बैंगलुरू में जगह जगह सुरक्षा व्यवस्था कड़ी की गई है.

इसे भी पढ़ें: CAA पर बवाल करने वाले देश के दुश्मन! रोजाना करते हैं 30 से 35 हजार करोड़ का नुकसान

पूरे देश में विपक्षी पार्टियां नागरिकता संशोधन कानून को मुद्दा बनाकर मामले को हवा देने की कोशिश में जुट गया है. पार्टियां इसपर राजनीति कर रही हैं, जिसका खामिया देश के आम लोगों को भुगतना पड़ रहा है.

इसे भी पढ़ें: CAA विरोध के नाम पर पूरी दिल्ली अस्त व्यस्त कर दी प्रदर्शनकारियों ने

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़