तो क्या NRC के तर्ज पर NPR से देश को भड़काना चाहती है विपक्ष?

नागरिकता संशोधन कानून की तरह ही NPR पर भी राजनीति शुरु हो गई है. AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर का विरोध करते हुए कहा कि ये NRC का ही दूसरा नाम है.

तो क्या NRC के तर्ज पर NPR से देश को भड़काना चाहती है विपक्ष?

नई दिल्ली: नागरिकता संशोधन कानून और NRC पर लोगों को डराने वाले AIMIM के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने NPR पर भी सवाल उठाया है. इस दौरान उन्होंने कहा है कि NPR के जरिए देश में NRC लागू करने की तैयारी है.

असदुद्दीन ओवैसी ने ये क्या कह दिया?

AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने कहा है कि 'NRC का काम शुरु हो चुका है NPR से. NPR जो अप्रैल 2020 में शुरु होगी वो NRC का हिस्सा है. इसीलिए तो हम कह रहे हैं कि NPR को रोकना पड़ेगा. NPR जो होगी तो एक निचले स्तर का अधिकारी वो किसी के बारे में कहे कि ये संदिग्ध है.'

गृह मंत्री अमित शाह ने ओवैसी पर पलटवार किया है. गृह मंत्री ने कहा कि सरकार की हर बात का विरोध करना ओवैसी की आदत बन गई है. वहीं सीपीआई नेता सीताराम येचुरी ने राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर पर सवाल उठाते हुए ट्वीट किया है.

येचुरी ने ट्वीट में लिखा है कि 'NPR और NRC एक समान हैं. मोदी सरकार लोगों को गुमराह करने के लिये कितना झूठ बोलेगी? इस सरकार ने राज्यसभा में स्पष्ट कहा था कि NPR मूल दस्तावेज होगा जिसके आधार पर एनआरसी का काम शुरु होगा. सरकार विभाजनकारी कानून सीएए को वापस ले और एनआरसी और एनपीआर को रद्द करे.'

वहीं कांग्रेस ने इसे वौटबैंक की राजनीति का हिस्सा बताया है. कांग्रेस नेता शक्ति सिंह गोहिल ने कहा है कि ये वोट बैंक की पॉलिटिक्स को छोड़ के कुछ होता कोई बात नहीं पर यहां वोट बैंक पॉलिटिक्स के लिए संविधान को तोड़ दिया जाता है.'

इसे भी पढ़ें: CAA और NRC के बाद अब NPR पर बिना जानें न मचाएं बवाल: गृहमंत्री

गृह मंत्री अमित शाह ने कांग्रेस को जवाब देते हुए कहा है कि 'एनपीआर कांग्रेस की शुरू की गई प्रक्रिया है, पूरी प्रक्रिया कांग्रेस के बनाए कानून के हिसाब से हो रही'

इसे भी पढ़ें: लखनऊ में अटल जी की प्रतिमा का अनावरण करेंगे PM मोदी