• देश की रक्षा के लिए हमारे देश के वीर जवान क्या कर सकते हैं. यह लद्दाख में पूरी दुनिया ने देख लिया- पीएम मोदी
  • देश में प्रदूषण मुक्त ईंधन एथेनॉल का उत्पादन 40 करोड़ लीटर से बढ़कर पांच गुना यानी 200 करोड़ लीटर हुआ- पीएम
  • आज से राष्ट्रीय डिजिटल हेल्थ मिशन की शुरुआत, एक ही कार्ड में होगा पूरा मेडिकल इतिहास - पीएम
  • अब भारत का किसान अपनी मर्जी का मालिक है, वह जहां चाहे अपना उत्पाद बेच सकता है. किसानों की आय दोगुना करने की कोशिश हमने की-पीएम
  • गांवों में कृषि और गैर कृषि उत्पादों के लिए संघ बनाया जाएगा. जिससे गांव आत्मनिर्भर बनेंगे- प्रधानमंत्री
  • पिछले 5 सालों में देश के 1.5 लाख पंचायतों में ऑप्टिकल फायबर पहुंचा दिया गया है. बाकी एक लाख पंचायतों में तेजी से काम जारी-पीएम
  • देश के 6 लाख गावों में ऑप्टिकल फायबर पहुंचाया जाएगा. यह काम 1000 दिनों के अंदर पूरा कर दिया जाएगा-पीएम
  • हमारे देश की महिलाएं फायटर प्लेन उड़ाने के साथ गहरी खदानों में भी काम कर रही हैं, नौसेना में भी महिला शक्ति की भागीदारी बढ़ी
  • देश में तेजी से महिला सशक्तिकरण हो रहा है. सरकारी योजनाओं में महिलाएं ज्यादा से ज्यादा भागीदारी कर रही हैं.
  • जल जीवन मिशन के तहत प्रतिदिन एक लाख से ज्यादा घरों में पाइप से जल पहुंच रहा है. एक करोड़ परिवारों तक साफ जल पहुंचाया गया- पीएम

चीन की गलतफहमी - राफेल चीनी J-20 का मुकाबला नहीं कर सकता

पाकिस्तान को लगा डर और चीन को हुई जलन भारत में राफेल के आने से, चीन ने जल कर कहा कि - राफेल नहीं टिकेगा  हमारे J-20 के आगे, और उसके बाद चीन को मिला भारत का खरा जवाब..

चीन की गलतफहमी - राफेल चीनी J-20 का मुकाबला नहीं कर सकता

नई दिल्ली.  राफेल के भारत आने से भारत के पड़ोस में खासी हलचल देखी गई. पकिस्तान के भय की हलचल बाहर और चीन की चिंता की हलचल अंदर नज़र आई. चीन ने जलन से भर कर कहा कि उसका J-20 भारत के राफेल से कहीं बढ़ कर है और फिर चीन को आइना दिखाया भारत के पूर्व वायु सेनाध्यक्ष बी.एस. धनोआ ने.

 

 

पाकिस्तान ने लगाई गुहार 

राफेल भारत आया तो पाकिस्तान का डर छुप न सका. उसने विश्व समुदाय से इसके खिलाफ गुहार लगाई और कहा कि भारत के ऐसा करने से हथियारों की होड़ बढ़ेगी और शान्ति के लिए खतरा पैदा होगा. उसके साथ ही उसके दोस्त और भारत के दुसरे दुश्मन चीन ने भी अपने मीडिया के माध्यम से राफेल की कमियां गिनाने की कोशिश की. 

'हमारा J-20 राफेल से बेहतर' 

ग्लोबल टाइम्स ने सरकार की तरफ से लिखा कि भारत में पांच राफेल फाइटर जेट आये हैं और भारत के पूर्व वायुसेनाध्यक्ष ने उनको चीन के J-20 से अच्छा बताया है. ग्लोबल टाइम्स ने अपने एक एक्सपर्ट को सामने रख कर कहा कि भारत का राफेल चीन के J-20 के सामने कहीं गिनती में नहीं है. उसने बताया कि राफेल थर्ड जेनेरेशन फाइटर जेट है और J-20 फोर्थ जेनेरेशन फाइटर जेट है जो ज्यादा आधुनिक है.

चीन ने कहा कि J-20 बेहतर है  

भारत के पूर्व-वायुसेनाध्यक्ष ने तुरंत चीन के दावे की कलाई खोल दी. उन्होंने चीन को बता दिया कि फ्रांस में बना फाइटर जेट राफेल चीन के J-20 फाइटर जेट से कई गुना श्रेष्ठ है. चीन ने कहा आधुनिक हथियार और सीमित तकनीक के कारण  राफेल की थर्ड जेनेरेशन दूसरे फाइटर जेट से तो तुलना की जा सकती किन्तु फोर्थ जेनेरेशन के J-20 जैसे जंगी जहाज़ से ये मुकाबला नहीं कर सका. 

धनोआ ने बताई सच्चाई 

पूर्व वायुसेना प्रमुख धनोआ ने बताया कि 4.5 जेनरेशन का राफेल गेमचेंजर है और इसके सामने चीन का फाइटर जेट जे-20 कहीं नहीं टिकता. उन्होंने कहा कि जे-20 इतना कुशल नहीं है कि उसे फिफ्थ जेनेरेशन फाइटर जेट कहा जा सके. जे-20 का के रडार सिग्‍नेचर के कारण यह राफेल के लॉन्‍ग-रेंज मीटॉर मिसाइल की पकड़ में बच नहीं पाता है. और राफेल सुपरक्रूज है जबकि जे-20 के भीतर सुपरक्रूज़ेबिलिटी नहीं है. 

ये भी पढ़ें. आतंक से मुक्ति पाना ही पाकिस्तान के लिए श्रेयस्कर है