Agricultural Bills पर राज्यसभा में चर्चा, सरकार और विपक्ष में संग्राम

केंद्र की मोदी सरकार की ओर से राज्यसभा (Rajysabha) में कृषि बिल पेश कर दिए गए हैं. विपक्षी सांसदों के भारी हंगामे के बीच राज्यसभा में विधेयक पर चर्चा चल रही है.  

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Sep 20, 2020, 11:40 AM IST
    • मोदी सरकार के साथ YSR कांग्रेस
    • YSR कांग्रेस ने केंद्र सरकार का समर्थन किया
    • लोकसभा में पास हो चुके हैं दो विधेयक
Agricultural Bills पर राज्यसभा में चर्चा, सरकार और विपक्ष में संग्राम

नई दिल्ली: संसद के मॉनूसन सत्र का आज सातवां दिन है. मोदी सरकार (Modi Sarkar) ने कृषि संबंधित विधयकों (Agricultural bills) को राज्यसभा में पेश किया. संसद से लेकर सड़क तक इन विधेयकों का विरोध और समर्थन किया जा रहा है. कई विपक्षी दल कृषि विधेयकों के मुद्दे पर मोदी सरकार के साथ हैं तो कई राजनीतिक दलों ने इसका विरोध करने का फैसला किया है.

मोदी सरकार के साथ YSR कांग्रेस

Agricultural Bills के मुद्दे पर YSR कांग्रेस ने केंद्र सरकार का समर्थन किया है. पार्टी के सांसद विजयसाई रेड्डी ने कहा कि पूर्व की सरकार मिडलमैन का समर्थन करती थी. किसानों को अपने उत्पाद को लाइसेंस प्राप्त बिचौलियों और उनके कार्टेल को बेचने के लिए मजबूर होना पड़ा. YSR कांग्रेस और कांग्रेस के सांसदों के बीच विधेयक के मुद्दे पर झड़प हो गयी. कांग्रेस के सांसदों ने राज्यसभा में हंगामा किया.

लोकसभा में पास हो चुके हैं दो विधेयक

आपको बता दें कि कृषि से जुड़े दो बिल लोकसभा से पहले ही पास हो चुके हैं. शिरोमणि अकाली दल जो बीजेपी की सबसे पुरानी सहयोगी थी, उसने बिल का विरोध किया. पार्टी की सांसद हरसिमरत कौर बादल ने कैबिनेट से इस्तीफा दे दिया था. समाजवादी पार्टी, TRS, कांग्रेस समेत कई दल इसका विरोध कर रहे हैं.

क्लिक करें- Agricultural Bill: सियासी घमासान के बीच राज्यसभा में पेश होंगे तीनों बिल

राज्यसभा में भी पास हो सकता है बिल

उल्लेखनीय है कि 245 सदस्यों वाले राज्‍यसभा में बीजेपी की अगुवाई वाले NDA के पास स्‍पष्‍ट बहुमत नहीं है, लेकिन कई क्षेत्रीय पार्टियों ने पिछले कई सेशन में सरकार का साथ दिया है. राज्य सभा में अभी बहुमत का आंकड़ा 122 है. दूसरी तरफ बीजेपी को AIADMK के 9 सांसदों, टीआरएस के 7, वाईएसआर कांग्रेस के 6, शिवसेना के 3, बीजू जनता दल के 9 और टीडीपी के 1 सांसद से समर्थन का भरोसा है. राज्यसभा में भाजपा के पास अकेले 86 सांसद हैं.

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़