कब खत्म होगी कोरोना की दूसरी लहर और संक्रमण रोकने के क्या हैं उपाय

कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन में हमें कई नए लक्षण भी देखने को मिले रहे हैं. ऐसा इसलिए हो रहा है, क्योंकि कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन कई वायरसों  का मिश्रण है.  

Written by - Harsha Chandwani | Last Updated : Apr 19, 2021, 09:00 PM IST
  • सभी को लगवानी चाहिए कोरोना वैक्सीन
  • जानिए क्या है संक्रमण के नए लक्षण
कब खत्म होगी कोरोना की दूसरी लहर और संक्रमण रोकने के क्या हैं उपाय

नई दिल्ली: कोरोना संक्रमण के प्रभाव को कम करने में वैक्सीन बहुत कारगर है. कोरोना की दूसरी लहर में वायरस लगातार म्यूटेट हो रहा है.

मेडजिनोम लैब्स लिमिटेड में संक्रामक रोगों की प्रमुख वैज्ञानिक डॉ गुनिशा पसरिचा ता रही है कि देश में कोरोना की दूसरी लहर का प्रभाव कब तक बना रहेगा. 

क्यों जरूरी है वैक्सीन 

कोरोना संक्रमण के लिए अभी जो भी वैक्सीनें दी जा रही हैं. वे सभी काफी प्रभावशाली है. 

ये सभी वैक्सीनें 60-70 प्रतिशत तक प्रभावशाली हैं. अगर आप वैक्सीन लगाते हैं, तो आपको संक्रमण होने का खतरा कम हो जाता है. अगर आपने वैक्सीन नहीं लगवाई है, तो आपके शरीर पर संक्रमण का प्रभाव अधिक होता है. 

वैक्सीन को लेकर जो रिसर्च किए गए हैं, उनमें यह सामने आया है कि महिलाओं में वैक्सीन लगवाने के बाद ब्लड क्लॉटिंग की समस्या आ रही है. लेकिन इसके बावजूद मेरा मानना है कि देश में 25-40 वर्ष के लोगों को कोरोना वैक्सीन दी जानी चाहिए. 

क्या है संक्रमण के नए लक्षण

कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन में हमें कई नए लक्षण भी देखने को मिले रहे हैं. जैसे- पेट में दर्द, दस्त होना, बेचैनी, अंदरूनी बुखार. ऐसा इसलिए हो रहा है, क्योंकि कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन कई वायरसों  का मिश्रण है.

कब खत्म हो कोरोना की दूसरी लहर

सबसे पहली बात हमें यह समझनी चाहिए कि वायरस का कोई सीजन नहीं होता. इसके संक्रमण का प्रभाव लगाता गर्मी और सर्दी दोनों में ही एक जैसा बना रह सकता है.

इस वायरस के प्रभाव में कब कमी आएगी, यह बहुत निश्चितता के साथ नहीं कहा जा सकता. किसी भी वायरस का यह नेचर होता है कि उसकी लहर लगभग तीन महीनों अर्थात 12 हफ्तों तक रहती है.

उदाहरण के तौर पर अगर हम महाराष्ट्र को देखें, तो राज्य में लॉकडाउन जैसे कड़े नियम लागू होने के बाद सक्रिय मामलों की संख्या और मरने वालों की संख्या में तेजी से कम आई है. 

यह भी पढ़िए: कोरोना का आयुर्वेदिक उपाय: संक्रमण से बचने के लिए ऐसे बढ़ाएं इम्यूनिटी

लॉकडाउन ही एकमात्र उपाय

कई वैज्ञानिकों का यह मानना है कि हमारे देश की स्वास्थ्य व्यवस्था बहुत कमजोर है और जिस तरह से देश में तेजी से संक्रमण फैल रहा है. 

इस लिहाज से लॉकडाउन ही एकमात्र रास्ता है. सरकारें जितनी जल्दी देश में लॉकडाउन लगाएंगी, उतनी जल्दी देश में कोरोना संक्रमण में कमी देखने को मिलेगी. 

मास्क लगाना है बेहद जरूरी

कोरोना वायरस का संक्रमण आंख, नाक और मुंह से फैलता है. इसलिए मास्क लगाना हमारे लिए बहुत जरूरी है. 

अब संक्रमण को रोकने के लिए हमें दो मास्क लगाने होंगे. अब एक मास्क से काम नहीं चलेगा. हमें सबसे पहले एक सर्जिकल मास्क पहनना चाहिए, फिर उसके बाद हमें इसके ऊपर एक मास्क और लगाना चाहिए. 

यह भी पढ़िए: EPFO: पैसों की है जरूरत, तो PF खाते से ऐसे निकाल सकते हैं पैसे

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

 

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़