पूर्वी दिल्ली में मल्टी यूज हब को मिली गृहमंत्री शाह के हाथों हरी झंडी

दिल्ली को केंद्र सरकार का एक और तोहफा मिला है. पूर्वी दिल्ली में शानदार मल्टी यूज हब बनने जा रहा है. राजधानी दिल्ली में बनने वाले सबसे ऊंचे हब का शिलान्यास केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने आज कर दिया है.

पूर्वी दिल्ली में मल्टी यूज हब को मिली गृहमंत्री शाह के हाथों हरी झंडी

नई दिल्ली: राजधानी के कड़कड़डूमा में 30 हेक्टेयर क्षेत्र में करीब 5000 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से मल्टी यूज़ हब तैयार किया जाएगा. मल्टी यूज़ हब शिलान्यास और उसका अनावरण करने के संकल्प के तहत 42 माह में तैयार हो जायेगा. इसको कुल 6 चरणों मे तैयार किए जाने की योजना है. पहले चरण में 1350 करोड़ रुपये खर्च होंगे. यह हब कुल 6,36,781 स्क्वायर मीटर में तैयार होगा. इसमें से 3,87,623 स्क्वायर मीटर पर रेसिडेंशियल और 110312 स्क्वायर मीटर क्षेत्र में कमर्शियल यूनिट तैयार किए जाएंगे.

यह सारे प्रोजेक्ट्स योजनाओं का हैं हिस्सा

इसमें 70 फीसदी रेसिडेंशियल,20 फीसदी कमर्शियल,10 फीसदी में जन सुविधाएं उपलब्ध होगी. आम जन का ध्यान रखते हुए 4526 यूनिट सामान्य के तौर पर छोड़ दिया जाएगा, जबकि 76 स्क्वायर मीटर के 2 बीएचके वाले 3120 यूनिट तैयार किए जाएंगे. 89 स्क्वायर मीटर के 2 बीएचके वाले 984 यूनिट, 135 स्क्वायर मीटर के 3 बीएचके वाले 252, 165 यूनिट स्क्वायर मीटर के 3 बीएचके वाले 270 यूनिट्स तैयार किए जाएंगे.

कम्यूनिटी हॉल से लेकर शॉपिंग सेंटर तक का रखा जाएगा ध्यान

आर्थिक रूप से कमजोर तबके के लिए 2088 यूनिट्स आरक्षित होगा जो 1 बीएचके का होगा. पहले चरण में 1108 सामान्य और 522 यूनिट्स आर्थिक रूप से कमजोर तबके के लिए बनाया जायेगा. इस हब में 10500 कार पार्किंग की व्यवस्था भी होगी. दो टॉवर 48-48 मंजिला के होंगे. ग्राउंड और उसके ऊपर 47 मंजिला होगा. अन्य टॉवर ग्राउंड प्लस 35 या इससे कम मंजिला का होगा. इसमें स्कूल, डिस्पेंसरी, लाइब्रेरी,जिम, इंडोर गेम, कल्चरल सेंटर, कम्युनिटी हॉल और शॉपिंग सेन्टर होंगे.

तकनीकी खामियों की वजह से होती रही देरी

इस प्रोजेक्ट को एनबीसीसी के साथ मिलकर मार्च 2015 में लांच किया गया था, लेकिन कई तकनीकी खामियों की वजह से इसमें देरी होती रही. उम्मीद है कि करीब 70 हजार से अधिक लोगों को रोजगार, कार्य करने के लिए बेहतर स्थल, मनोरंजन व शॉपिंग आदि के लिए बेहतर स्थल बनेगा.

इस अवसर पर केंद्रीय शहरी विकास और आवासन मंत्री हरदीप सिंह पुरी, दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल, मनोज तिवारी और सांसद गौतम गंभीर सहित कई लोग मौजूद थे.