प्रयागराज के नैनी में हाईटेक जेल, लखनऊ से होगी कैदियों की निगरानी

कई बार ऐसी खबरें आती रहती हैं कि जेल में बंद कैदियों का सही ध्यान नहीं रखा जा रहा है. या ऐसी खबरें भी आती हैं कि कैदी जेल से ही किसी बड़ी घटना को अंजाम दे देते हैं, उन पर निगरानी नहीं रखी जाती. अब यह शिकायत लंबे समय तक नहीं आएगी.   

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Dec 20, 2019, 05:57 PM IST
    • लखनऊ हेडक्वार्टर से होगी सर्विलांस
    • अब कम दर्ज होंगी शिकायतें
प्रयागराज के नैनी में हाईटेक जेल, लखनऊ से होगी कैदियों की निगरानी

लखनऊ: उत्तरप्रदेश में बढ़ते अपराधों के बीच योगी सरकार के लिए एक चैन की सांस लेने वाली खबर आई है. उत्तरप्रदेश के बड़े जेलों में अब तकनीक का इस्तेमाल कर सभी कैदियों की हरकतों पर नजर रखी जाएगी. प्रयागराज में यह तकनीक लागू भी की जा चुकी है. प्रयागराज सेंट्रल जेल में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंसी इन फॉर्म ऑफ वीडियो वॉल के जरिए जेल में कैदियों की गतिविधियों पर नजर रखी जाएगी.

लखनऊ हेडक्वार्टर से होगी सर्विलांस

जेलर ने बताया कि इस तकनीक के जरिए कौन सा कैदी कहां जा रहा है, क्या कर रहा है और समय पर एंटी ले रहा है या नहीं, इन सभी बातों का ख्याल रखा जा सकता है. सबकी देखरेख कंट्रोल रूम से रखी जाएगी. लाइव सीसीटीवी के जरिए जेल के हेडक्वार्टर जो राजधानी लखनऊ में होगा, वहां से सारी गतिविधियों की पड़ताल होती रहेगी. यह हाईटेक जेल की ही तो देन है कि प्रयागराज के नैनी में बसे जेल के कैदियों पर नजर रखी जा सकती है. 

अब कम दर्ज होंगी शिकायतें

जेल में बंद कैदियों को लेकर भी शिकायतें दर्ज कराई जाती है कि वह जेल से ही कई घटनाओं को अंजाम दे रहा है. इस तकनीक से यह भी पता चल जाएगा कि जेल के कैदी कहीं किसी षडयंत्र में तो शामिल नहीं हैं. इसे यूपी के अन्य जेलों में भी जल्द ही लागू किया जाएगा.

 

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़